मुख्यपृष्ठनए समाचारमूसेवाला की हत्या में शामिल टीनू ने पुलिस से कहा था ...फिर...

मूसेवाला की हत्या में शामिल टीनू ने पुलिस से कहा था …फिर भागा तो हाथ नहीं आऊंगा!

अभी भागने का कोई इरादा नहीं है
सामना संवाददाता / चंडीगढ़
पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद गैंगस्टर दीपक टीनू की चार जुलाई को गिरफ्तारी हुई थी। तब मानसा पुलिस उसे प्रोडक्शन वारंट पर लेकर आई थी। सूत्रों का कहना है कि पूछताछ के दौरान उसने एक पुलिसकर्मी से कहा था कि वह दो बार हिरासत से भागा, मगर दोनों बार पकड़ा गया। इस बार भागने का कोई इरादा नहीं है लेकिन फरार हुआ तो पुलिस के हाथ नहीं आऊंगा। प्रीतपाल सिंह यह बात अच्छी तरह से जानता था कि टीनू फरार हो सकता है।
सूत्रों के अनुसार गैंगस्टर टीनू ने प्रीतपाल सिंह को यह झांसा दिया था कि वह उसे अवैध हथियारों की बड़ी रिकवरी कराएगा। साथ ही गैंगस्टरों के बारे में सटीक जानकारी देगा। इसी लालच में प्रीतपाल सिंह टीनू पर मेहरबान हुआ था। अक्सर छोटे-मोटे मामलों में पकड़े गए आरोपियों को अदालत में पेश करते समय पंजाब पुलिस हथकड़ी लगाकर अदालत में लाती है। हालांकि कोर्ट में पेश करने से पहले हथकड़ी खोल देती है। सीआईए प्रभारी प्रीतपाल के मामले में पुलिस ने ऐसा नहीं किया। सोमवार को जब मानसा पुलिस ने उसे अदालत में पेश किया तो उसके हाथों में कोई हथकड़ी नहीं थी। अदालत से बाहर आते समय भी उसके चेहरे पर कोई शिकन नहीं थी।

अन्य समाचार