मुख्यपृष्ठनए समाचारनवरात्रोत्सव में यदि गड्ढे किए तो पंडाल होंगे दंडित, बैरिकेड या अन्य...

नवरात्रोत्सव में यदि गड्ढे किए तो पंडाल होंगे दंडित, बैरिकेड या अन्य काम के लिए गड्ढे करने पर २ हजार दंड

• मनपा की टीम कर रही निरीक्षण
सामना संवाददाता / मुंबई
मनपा ने गणेशोत्सव के दौरान पंडालों की ओर से सड़कों पर किए गए गड्ढों से सबक लिया है। इस बार नवरात्रि के दौरान मनपा ने नोटिस जारी कर सभी नवरात्रोत्सव मंडलों को सचेत कर दिया है कि यदि सड़कों पर किसी भी पंडाल की तरफ से बैरिकेड लगाने के लिए खड्डे किए गए तो उन पर जुर्माना लगाया जाएगा। मनपा ऐसे मनमानी रूप से गड्ढे करने वालों को दंडित करेगी। अधिकारियों ने मंगलवार को इस संदर्भ में आदेश जारी किया।

रु. २ हजार प्रति गड्ढा लग सकता है जुर्माना
मनपा अधिकारियों ने कहा कि यह कदम इस साल गणेशोत्सव के दौरान जारी दिशा-निर्देशों की अवमानना के बाद उठाया गया है। आयोजन समितियां अक्सर विभिन्न त्योहारों के दौरान पंडाल और बैरिकेड्स लगाने के लिए सड़कों की खुदाई करती हैं, जिससे सड़कों को बुरी तरह नुकसान पहुंचता है। नवरात्रोत्सव के दौरान मनपा अधिकारी विभिन्न पंडालों के आस-पास सड़कों के किनारे बने गड्ढों की पहचान करेंगे। स्थिति का जायजा लेने के बाद दोषियों पर २ हजार रुपए प्रति गड्ढे का जुर्माना लगाएगी।

१,३०४ पंडालों को अनुमति
इस पर जानकारी देते हुए मनपा के उपायुक्त रमाकांत बिरादर ने कहा कि इस साल नवरात्रि के आयोजन के लिए १,३०४ नवरात्रि मंडलों को अनुमति दी गई। हमने आयोजकों को अनुमति पत्र सहित दिशा-निर्देश पत्र जारी किया है। अगर कोई समिति नवरात्रोत्सव के लिए पंडाल या बैरिकेड्स बनाते समय सड़कों को नुकसान पहुंचाती है, तो उन पर जुर्माना लगाया जाएगा। ठीक वैसे ही जैसे गणेशोत्सव के दौरान किया गया है। इस साल गणेशोत्सव के दौरान मनपा ने लालबागचा राजा पंडाल पर त्योहार के दौरान १,८३ गड्ढे बनाने के लिए ३.६६ लाख रुपए का जुर्माना लगाया था।

अन्य समाचार