मुख्यपृष्ठटॉप समाचारपेड़ काटोगे तो कटेगी जेब!... हवालात की भी करनी पड़ सकती है...

पेड़ काटोगे तो कटेगी जेब!… हवालात की भी करनी पड़ सकती है सैर

• होली पर मनपा हुई सख्त
सामना संवाददाता / मुंबई । बढ़ती आबादी के कारण आवास की समस्या के समाधान के लिए जंगलों की अंधाधुंध कटाई का असर पर्यावरण पर तो पड़ ही रहा है, इससे लोगों के स्वास्थ्य पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। ऐसे में अपनी और अपने परिजनों के उत्तम स्वास्थ्य के लिए ऑक्सीजन देनेवाले वृक्षों की सुरक्षा हम सभी का परम दायित्व बन जाता है। इसी दायित्व के निर्वहन के लिए मुंबई मनपा प्रशासन ने होली के मौके पर सख्त रुख अख्तियार किया है। होलिका दहन के लिए पेड़ों की अवैध कटाई करने की मंशा रखनेवालों को बाज आना होगा। अन्यथा उन्हें भारी आर्थिक चपत तो लगेगी ही, साथ ही जेल भी जाना पड़ सकता है। होली पर पेड़ों की अवैध कटाई रोकने के लिए मनपा ने खास तैयारी की है। यदि कोई पेड़ काटते हुए पकड़ा जाता है तो उसकी जेब तो कटेगी ही, साथ ही एक सप्ताह से लेकर एक साल तक के लिए उसे जेल भी जाना पड़ सकता है।
१ हजार से ५ हजार तक जुर्माना
मनपा में वृक्ष प्राधिकरण के सदस्य सचिव व उद्यान अधीक्षक जितेंद्र परदेशी ने कहा कि हम सभी को उन पेड़ों की रक्षा करने की जरूरत है, जो हमको ऑक्सीजन देते हैं। इस संबंध में महाराष्ट्र (शहरी क्षेत्र) वृक्ष संवर्धन और सुरक्षा अधिनियम १९७५ के तहत किए गए विभिन्न प्रावधानों में वृक्ष प्राधिकरण की पूर्व अनुमति के बिना किसी भी पेड़ को काटना धारा २१ के तहत अपराध है। इसके अनुसार अवैध रूप से पेड़ों की कटाई के प्रत्येक अपराध के लिए न्यूनतम एक हजार से पांच हजार रुपए तक का जुर्माना लगाने का प्रावधान है। साथ ही इसके लिए एक सप्ताह से लेकर एक वर्ष तक की वैâद भी हो सकती है।
पेड़ों की कटाई की दें जानकारी
इस संबंध में उद्यान अधीक्षक परदेशी ने पर्यावरण रक्षा की अपील करते हुए कहा है कि १७ मार्च को होलिका दहन पर नागरिक किसी भी प्रकार के पेड़ न काटें। पेड़ों की अवैध कटाई करते पाए जाने पर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई जाएगी। साथ ही उन्होंने जागरूक नागरिकों से आग्रह किया है कि यदि शहर में कहीं भी पेड़ों की कटाई करते किसी को देखते हैं तो वे तत्काल मनपा अधिकारियों और स्थानीय थानों को सूचित करें। ताकि इस संबंध में तत्काल कार्रवाई की जा सके।

अन्य समाचार