मुख्यपृष्ठनए समाचारलाल सागर में हूती हमले का असर : भारत में आसमान छूएगी...

लाल सागर में हूती हमले का असर : भारत में आसमान छूएगी महंगाई!-भारत की शिपिंग कंपनियों पर बढ़ा लागत का बोझ

एजेंसी / नई दिल्ली
लाल सागर में हूती के हमले दुनिया के लिए भारी पड़ने वाले हैं, इसका असर दिखना शुरू हो गया है। यमन का संगठन हूती अमेरिका और ब्रिटेन जैसी दुनिया की बड़ी ताकतों को आंख दिखा रहा है और उसकी आंच यहां भारत में भी महसूस हो रही है। यही वजह है कि पहले से आर्थिक संकटों का सामना कर रही दुनिया के सामने अब महंगाई और बड़ी विपत्ति बनकर आते दिख रही है। लाल सागर के रूट पर अगर इसी तरह अशांति छाई रहती है तो भारत के लिए महंगाई का संकट और बढ़ सकता है।
दरअसल, भारत खाड़ी देशों समेत रूस से भी बड़ी मात्रा में कच्चे तेल का आयात करता है, जिसका मुख्य मार्ग लाल सागर होकर ही आता है। ऐसे में भारत में भी महंगाई अपना असर दिखा सकती है। भारत अपनी जरूरत का करीब ८० प्रतिशत कच्चा तेल आयात ही करता है। गौरतलब है कि पिछले साल अक्टूबर में इजरायल और हमास के बीच संघर्ष शुरू हुआ था, जिसके बाद हमास के समर्थन में हूती ने लाल सागर से गुजरने वाले कॉमर्शियल जहाजों पर हमले, उन्हें अगवा करने और लूटने का काम शुरू कर दिया था।
भारत को हो रहा नुकसान
हूती के हमलों का असर शुरुआत में तो भारत पर नहीं पड़ा, लेकिन अब भारत को भी इसका नुकसान हो रहा है। भारत की कई शिपिंग कंपनियों को इस संकट की वजह से बढ़ी लागत का बोझ उठाना पड़ रहा है। शिप चार्टिंग सर्विस देने वाली एक भारतीय कंपनी का कहना है कि जहाज कंपनियों की लागत ३ गुना तक बढ़ गई है, क्योंकि यूरोप जाने वाले कंटेनर्स को स्वेज नहर की बजाय अब अप्रâीका के ‘केप ऑफ गुड होप’ रूट से जाना पड़ रहा है।

अन्य समाचार