मुख्यपृष्ठनए समाचारखबर का असर : सुलतानपुर में डॉक्टर के हत्यारोपियों के अवैध निर्माण...

खबर का असर : सुलतानपुर में डॉक्टर के हत्यारोपियों के अवैध निर्माण पर चला बुल्डोजर

मनोज श्रीवास्तव / लखनऊ

सुल्तानपुर में डॉक्टर की हत्या के बाद `दोपहर का सामना’ में जोरदार तरीके से प्रकाशित खबर “बुल्डोजर बनी बकरी” का उत्तर प्रदेश सरकार पर जबरदस्त असर दिखा। मीडिया के दिग्गजों के एक्स हैंडल से `दोपहर का सामना’ की को राजनैतिक पार्टियों को टैग कर किया हुआ ट्यूट सुर्खियों में रहा। इसके बाद सोमवार को सुलतानपुर में डॉक्टर हत्याकांड में बड़ा एक्शन हुआ है। यूपी पुलिस ने डॉक्टर हत्याकांड के आरोपी अजय नारायण सिंह के अनाधिकृत अवैध अतिक्रमण को पल भर में ध्वस्त दिया गया।
अजय नारायण बीजेपी के पूर्व जिलाध्यक्ष गिरीश नरायन सिंह के भतीजे और भाजपा जनता युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष चंदन नारायण सिंह का भाई है। अजय नारायण की तरह चंदन ने हाईवे पर कब्जा करके कथित तौर पर कैंप कार्यालय बना रखा था, जिसे पुलिस और प्रशासन की टीम ने मिलकर सोमवार को जेसीबी से ध्वस्त कर दिया। पुलिस-प्रशासन की इस कार्रवाई से हड़कंप मचा है। सुलतानपुर जिले के लम्भुआ थाना क्षेत्र के जमखुरी गांव के निवासी डॉ. घनश्याम तिवारी (55) जयसिंहपुर में संविदा पर चिकित्सक नियुक्त थे। उन्होंने शहर में अपना निवास बनाने के साथ नगर कोतवाली के विद्यामंदिर के पीछे भूमि खरीदी थी। शनिवार देर शाम वे घायल अवस्था में अपने घर पहुंचे। उन्हान अपनी पत्नी को बताया कि जमीन के विवाद में विद्या मंदिर के पीछे उनके ऊपर प्राणघातक हमला किया गया। हमलावरों ने पीट-पीटकर उनका हाथ तोड़ दिया। हालत बेहद खराब देखकर परिजन उन्हें तुरंत जिला चिकित्सालय ले गए, जहां बात करते-करते डॉ. घनश्याम ने दम तोड़ दिया। हत्या का आरोप बीजेपी के पूर्व जिलाध्यक्ष गिरीश नरायन सिंह के भतीजे अजय नरायन सिंह पर लगा है।

अन्य समाचार