मुख्यपृष्ठनए समाचारइमरान ने दी घ्एघ् को खुली धमकी : ‘मेरा मुंह मत खुलवाओ,...

इमरान ने दी घ्एघ् को खुली धमकी : ‘मेरा मुंह मत खुलवाओ, हो जाएगा बड़ा नुकसान!’

एजेंसी / इस्लामाबाद
बहुमत से चुनाव जीतने के बाद भी सत्ता छोड़ने को मजबूर किए जाने के बाद ‘तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी’ के प्रमुख एवं पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान इन दिनों मौजूदा शहबाज शरीफ सरकार, पाकिस्तानी सेना और उसकी कुख्यात खुफिया एजेंसी आईएसआई पर घायल शेर की तरह हमला बोल रहे हैं। कुर्सी गंवाने के बाद आक्रोश में जल रहे इमरान खान अब लाहौर से इस्लामाबाद के लिए वो बहुप्रतीक्षित ‘हकीकी आजादी’ मार्च निकाल रहे हैं। इस मार्च में वो पाक पीएम शहबाज शरीफ के अलावा सेना और आईएसआई को निशाना बना रहे हैं। इमरान खान इस दौरान भारत की लगातार तारीफ कर रहे हैं, तो वहीं सरकार सेना और आईएसआई को खुली चुनौती दे रहे हैं।
पाकिस्तानी अवाम की बेहतरी और पत्रकार अरशद शरीफ के हत्यारों को सजा दिलाने के नाम पर ‘हकीकी आजादी’ मार्च निकाले जाने के कारण इमरान की पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई से ठन गई है। आईएसआई प्रमुख नदीम अंजुम ने प्रेस कॉन्प्रâेंस कर इमरान पर हमला किया, जिसका इमरान ने अपने लॉन्ग मार्च में उन्हें जवाब दिया। इमरान ने कहा कि मेरा मुंह मत खुलवाओ। मैंने बोल दिया तो पाकिस्तान और इसकी खुफिया एजेंसी को बड़ा नुकसान होगा। इमरान खान ने कहा कि वह अपने देश और इसके संस्थानों का नुकसान नहीं करना चाहते इसलिए चुप हैं। दरअसल, आईएसआई प्रमुख ने एक दिन पहले कहा था कि इस साल मार्च में राजनीतिक उथल-पुथल के दौरान इमरान ने अपनी सरकार का समर्थन करने के बदले पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद को पद पर बने रहने का प्रस्ताव दिया था। पाकिस्तान ‘तहरीक-ए-इंसाफ’ प्रमुख इमरान खान ने लाहौर के लिबर्टी चौक से इस्लामाबाद की ओर विरोध मार्च शुरू करने के बाद समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा कि उनका मार्च राजनीति या व्यक्तिगत हित के लिए नहीं है। वे सच्ची स्वतंत्रता हासिल करने और लंदन या वॉशिंगटन के बदले पाकिस्तान में सभी पैâसले हो यह तय करने के लिए निकले हैं। इमरान ने कहा, ‘डीजी आईएसआई, ध्यान से सुनो, मैं अपने संस्थानों और देश के लिए चुप हूं। मैं जो जानता हूं, उसे बोल दिया तो पाकिस्तान का नुकसान हो सकता है। मैं अपने देश को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहता।’

पाकिस्तान में गृहयुद्ध जैसे हालात
इमरान के इस कदम के बाद सेना भी इमरान को सबक सिखाने के मूड में आ गई है। इससे हाल ही में बाढ़ की त्रासदी झेल चुका पाकिस्तान अब गृहयुद्ध की तरफ बढ़ रहा है। इमरान खान ने देश पर ‘राजनीतिक दबाव’ बनाए रखने के लिए आईएसआई चीफ को दोषी ठहराया और आरोप लगाया कि आईएसआई देश की जनता को धोखे में रख रही है।

अन्य समाचार