मुख्यपृष्ठनए समाचारज्ञानवापी प्रकरण में जिला जज ने एएसआई को दिया दस दिन का...

ज्ञानवापी प्रकरण में जिला जज ने एएसआई को दिया दस दिन का अतिरिक्त समय… मस्जिद कमेटी ने जताई आपत्ति

उमेश गुप्ता / वाराणसी

ज्ञानवापी परिसर का 4 अगस्त से सांइटिफिक सर्वे कर रही आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया को ज्ञानवापी परिसर के सर्वे की रिपोर्ट को जमा करने के लिए जिला जज ने एक बार फिर 10 दिन का अतिरिक्त समय दिया है। इस दौरान कोर्ट ने आदेश देते हुए कहा कि हम यह उम्मीद करते हैं कि एएसआई निश्चित रूप से 11 दिसंबर को रिपोर्ट सब्मिट कर देगा। वहीं सुनवाई के दौरान प्रतिवादी संख्या 4 अंजुमन इंतेजामिया मसाजिद कमेटी ने बार-बार समय मांगने पर आपत्ति जताते हुए एएसआई की इस मांग को खारिज करने की अपील की।
जिला जज अजय कृष्ण विश्वेश की अदालत में 28 नवंबर को ASI को ज्ञानवापी परिसर की सांटिफिक सर्वे की रिपोर्ट सब्मिट करनी थी, लेकिन उसी दिन ASI ने कोर्ट में तीन सप्ताह का अतिरिक्त समय देने के लिए एप्लिकेशन संख्या 392C डाली थी। इस पर बुधवार को हुई सुनवाई के बाद जिला जज अजय कृष्ण विश्वेश ने सभी पक्षों को सुना उसके बाद एएसआई को 10 दिन का अतिरिक्त समय दे दिया।
भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की रिपोर्ट सब्मिट करने की एप्लिकेशन पर अंजुमन इंतेजामिया मसाजिद कमेटी ने ऑब्जेक्शन किया। मसजिद कमेटी ने आवेदन 392 सी पर कड़ी आपत्ति जताई और तर्क दिया कि एएसआई बिना किसी उचित कारण के बार-बार रिपोर्ट दर्ज करने के लिए समय मांग रहा है। इसलिए आवेदन 392 खारिज किया जाए। उन्होंने यह भी तर्क दिया है कि रिपोर्ट दाखिल करने के लिए बार-बार समय लेने की इस प्रक्रिया का कुछ हद तक अंत होना चाहिए।
सभी पक्षों को सुनने के बाद जिला जज अजय कृष्ण विश्वेश ने अपने आदेश में कहा कि यह अदालत उम्मीद करती है कि दिए गए समय के भीतर एएसआई निश्चित रूप से रिपोर्ट दाखिल करेगी और आगे समय की मांग नहीं करेगी। एएसआई को अब 11 दिसंबर को रिपोर्ट सब्मिट करनी होगी।

अन्य समाचार

कुदरत

घरौंदा