मुख्यपृष्ठसमाचारमुंबई के प्रदूषण में एक्यूआई का लोचा!

मुंबई के प्रदूषण में एक्यूआई का लोचा!

मशीनों की कम हुई विश्वसनीयता

 अब यंत्रों की जगह बदलेगी मनपा

सामना संवाददाता / मुंबई

मुंबई में हवा की गुणवत्ता जांचने के लिए जिन जगहों पर ‘एयर मॉनिटरिंग सिस्टम’ लगाया गया है, वहां स्थानीय कारकों के कारण प्रदूषण बढ़ रहा है। इसके अलावा इस प्रणाली पर वर्षों से ध्यान नहीं दिया गया है, इसलिए इस प्रणाली से आने वाली सूचनाओं की विश्वसनीयता कम हो गई है। इसके चलते महानगरपालिका द्वारा किए गए निरीक्षण में मुंबई का औसत ‘वायु गुणवत्ता सूचकांक’ (एक्यूआई) बढ़ रहा है। इसलिए प्रदूषण मापने के लिए लगाए गए सभी २८ स्थानों का निरीक्षण करने के बाद मनपा प्रशासन की ओर से स्पष्ट किया गया कि वे सभी स्थानों पर ‘एयर मॉनिटरिंग सिस्टम’ के स्थान पर सर्वसमावेशी सिस्टम लगाएंगे।
बता दें कि निर्माण स्थलों से निकलने वाली धूल मुंबई में बढ़ते प्रदूषण के लिए जिम्मेदार है, यह स्पष्ट होते ही मनपा ने निर्माण परियोजनाओं के लिए नियमावली की घोषणा की। २३ अक्टूबर को घोषित इन २७ प्रकार के नियमों में से अधिकांश निर्देश निर्माण परियोजनाओं के लिए हैं। नियमों के अनुसार, मनपा ने ३ नवंबर से स्कॉड के माध्यम से सभी वॉर्डों में निर्माण परियोजनाओं का निरीक्षण, काम रोकने का नोटिस, निर्माण कार्य को सील करने का काम शुरू किया। वर्तमान में मुंबई में लगभग ६,००० परियोजनाएं निर्माणाधीन हैं। इस बीच मुंबई की वायु गुणवत्ता को प्रदूषण मापने वाली प्रणालियों के रिकॉर्ड के अनुसार ही मापा जा रहा है। हालांकि, यह बात सामने आई है कि जिन जगहों पर ये मशीनें लगी हैं, वहां काम होने से प्रदूषण बढ़ रहा है। इसलिए इन मशीनों को लगाने की जगह बदली जाएगी और सर्वसमावेशी सिस्टम लगाया जाएगा। ‘एयर मॉनिटरिंग सिस्टम’ में चार मशीनें मनपा की और २४ मशीनें ‘सफर’ संस्था की हैं।
‘सिस्टम’ ने इस तरह की जांच!
१. जब मनपा ने मरोल में ‘एयर मॉनिटरिंग सिस्टम’ लगाए गए स्थान का निरीक्षण किया तो देखा कि यहां भारी मात्रा में टाइल्स काटी जा रही है। इसके चलते यहां की हवा की गुणवत्ता बेहद खराब दर्ज की गई है।
२. अंधेरी में लगे ‘एयर मॉनिटरिंग सिस्टम’ के बिल्कुल करीब एक बेकरी की चिमनी जहरीली धुआं उगलती पाई गई, इसके चलते देखा गया है कि यहां की हवा की गुणवत्ता काफी खराब हो गई है।
३. भांडुप कॉम्प्लेक्स में जब वातावरण अच्छा था तो वायु गुणवत्ता सूचकांक अधिक दर्ज किया गया था, लेकिन निरीक्षण करने पर देखा गया कि यहां के ‘एयर मॉनिटरिंग सिस्टम’ के पास आग जलाने का काम हो रहा है।

अन्य समाचार

कविता