मुख्यपृष्ठखबरें२०३० में भारत होगा `ईवी सुपर पॉवर'! ...सहयोग में जुटीं राज्य सरकारें

२०३० में भारत होगा `ईवी सुपर पॉवर’! …सहयोग में जुटीं राज्य सरकारें

सामना संवाददाता / मुंबई
ग्लोबल वॉर्मिंग के बढ़ते कहर के चलते देश और दुनिया पर्यावरण को लेकर भी गंभीर है। वायु प्रदूषण पर नियंत्रण पाने के लिए युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे पहले से ही अग्रसर हैं। इलेक्ट्रिक वाहन नीति के अंतर्गत उन्होंने पहले ही वायु प्रदूषण से निपटने के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा दिया है। अब भारत सरकार भी साल २०३० तक भारत को इलेक्ट्रिक वाहन यानी ईवी सुपर पॉवर बनाने का लक्ष्य रखा है। इसके लिए राज्य सरकारें भी वाहन निर्माता कंपनियों को पूरा सहयोग करने में लगी हैं।
बता दें कि इलेक्ट्रिक वाहन धीरे-धीरे और निश्चित रूप से अपने पर्यावरण के अनुकूल प्रकृति के कारण भारत में स्वीकृति प्राप्त कर रहे हैं और प्राकृतिक संसाधनों की कमी में बचत लाने की तैयारी में सहयोग कर रहे हैं। २०३० तक भारत को ईवी सुपर पॉवर बनाने की भारत सरकार की घोषणा का समर्थन करने वाली कंपनियों के साथ, एमजी, टाटा, महिंद्रा एंड महिंद्रा सहित ऑटो आई केयर जैसी कंपनियों ईवी निर्माण के एक नए व्यापार खंड में प्रवेश कर रही हैं। इन कंपनियों ने यह कदम देशभर में इलेक्ट्रिक वाहनों के विस्तार के लिए उठाया है। ऑटो आई केयर सहित उपरोक्त इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता कंपनियां इस वित्तीय वर्ष में ईवी टू व्हीलर लॉन्च करने की योजना बना रही है और बाइक आने वाले त्योहारी सीजन में बाजार में उतरेंगी और विविध प्राथमिकताओं वाले ग्राहकों की मांग को पूरा करेंगी।

अन्य समाचार