मुख्यपृष्ठनए समाचारइंडिया जीतेगा!! ... २५० तक सिमटेगा भाजपा गठबंधन! ...टाइम्स नाउ-ईटीवी सर्वे से...

इंडिया जीतेगा!! … २५० तक सिमटेगा भाजपा गठबंधन! …टाइम्स नाउ-ईटीवी सर्वे से बढ़ा मोदी सरकार का ब्लड प्रेशर

सिर्फ ६ राज्यों में ही भाजपा को होगा ३९ से अधिक सीटों का नुकसान; देशभर में १०० से ज्यादा सीटें हारने का अनुमान
विशेषज्ञों के आंकलन; एनडीए के खाते से ११५ सीटों की होगी कटिंग

सामना संवाददाता / मुंबई
केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और भाजपा दो साल से वर्ष २०२४ में होने वाले चुनाव की तैयारियों में जुटी है। इसके लिए केंद्रीय जांच एजेंसियों के साथ-साथ मीडिया एवं दूसरे तमाम तंत्रों का जमकर दुरुपयोग किया जा रहा है लेकिन हाल ही में गठित कांग्रेस समेत २५ विपक्षी दलों के ‘इंडिया’ गठबंधन के कारण आगामी लोकसभा चुनाव भाजपा नीत एनडीए को बड़ा झटका लगना तय माना जा रहा है। ऐसा विभिन्न न्यूज चैनलों एवं एजेंसियों के सर्वे से भी साफ होने लगा है। ऐसा दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार और भाजपा के डर से सर्वे के नतीजों में जान-बूझकर एनडीए की बढ़त दिखाई जा रही है लेकिन हकीकत में चुनाव परिणाम इसके विपरीत ही आएंगे। फिलहाल की बात करें तो अभी महाराष्ट्र सहित ६ राज्यों में भाजपा को ३९ सीटों पर झटका लगने का दावा एक न्यूज एजेंसी ने किया है, जबकि विशेषज्ञों का कहना है कि कुल मिलाकर एनडीए को १०० से अधिक सीटों का फटका लग सकता है और एनडीए २५० सीटों तक सिमट सकता है। नतीजतन, इस बार लोकसभा में भाजपा लटक सकती है।
बता दें कि अगले साल होने वाले आम चुनाव को लेकर अब तक कई चैनल की ओर से सर्वे किया गया है। आगामी चुनावों के बाद देश की बागडोर संभालने के लिए संघर्ष कर रही है, वहीं ‘टाइम्स नाउ-ईटीवी’ के एक सर्वे ने भाजपा नेताओं का ब्लड प्रेशर बढ़ा दिया है। अगली लोकसभा चुनावों में केंद्र में सत्तारूढ़ गठबंधन को महाराष्ट्र सहित कम से कम छह राज्यों में कम से कम ३९ सीटें प्रभावित होने का सर्वे में खुलासा हुआ है।

इस सर्वे के मुताबिक, एनडीए को महाराष्ट्र की ४८ सीटों में से सिर्फ १ या २ सीटों पर ही जीत मिलने की संभावना है। पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा ने महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ गठबंधन किया था, तब एनडीए को ४८ में से ४१ सीटों पर जीत मिली थी। हालांकि, इस बार यह अनुमान लगाया गया है कि राष्ट्रीय लोकशाही गठबंधन को महाराष्ट्र, बिहार, राजस्थान, मध्य प्रदेश, झारखंड और पश्चिम बंगाल सहित छह राज्यों में भारी नुकसान होने का अनुमान इस सर्वे में लगाया है। इन राज्यों में से मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में एनडीए की सरकारें हैं, वहीं राजस्थान, झारखंड, बिहार और पश्चिम बंगाल में विरोधी दलों की सरकारें हैं। इस सर्वे में करीब ६० फीसदी लोगों से फोन पर संपर्क किया गया और ४० फीसदी लोगों से घर-घर जाकर उनकी राय ली गई।
राज्यवार सीटें
महाराष्ट्र – ४८
बिहार – ४०
मध्य प्रदेश – २९
राजस्थान – २५
झारखंड – १४
पश्चिम बंगाल – ४२
एनडीए गंवाएगी २९ से ४३ सीटें
इन छह राज्यों में कुल १९८ लोकसभा सीटें हैं। २०१९ में एनडीए ने यहां १६३ सीटें जीतीं। हालांकि, इस ताजा सर्वे के निष्कर्षों के मुताबिक, इन राज्यों में एनडीए को १२० से १३४ सीटों पर ही संतोष करना पड़ेगा। उनके उम्मीदवारों को २९ से ४३ सीटों पर हार की आशंका है।
एनडीए बनाम इंडिया
सर्वे के मुताबिक, एनडीए को राजस्थान में २०-२२, मध्य प्रदेश में २४-२६, महाराष्ट्र में १-२, बिहार में २२-२४, पश्चिम बंगाल में १६-१८ और झारखंड में १०-१२ सीटें मिलने का अनुमान है, वहीं विपक्षी इंडिया आघाड़ी को राजस्थान में २ से ३ सीटें, मध्य प्रदेश में ३ से ५ सीटें, महाराष्ट्र में १५ से १९ सीटें, बिहार में १६ से १८ सीटें, पश्चिम बंगाल में २३ से २७ सीटें मिलने की संभावना है। झारखंड में २ से ४ सीटें। पिछले लोकसभा चुनाव में मध्य प्रदेश में कांग्रेस सत्ता में थी। उस वक्त एनडीए ने राज्य की २९ में से २८ सीटों पर जीत हासिल की थी। इसके अलावा एनडीए ने बिहार में ४० में से ३९, झारखंड में १४ में से १२, राजस्थान में २५ में से २५ और पश्चिम बंगाल में ४२ में से १८ सीटें जीतीं। सर्वे से पता चला है कि आगामी चुनाव में इस तस्वीर को बदलने की बयार जोरों से चल रही है।

 

अन्य समाचार