मुख्यपृष्ठखबरेंपुंछ के बालाकोट में घुसपैठ नाकाम, दो घुसपैठिए ढेर

पुंछ के बालाकोट में घुसपैठ नाकाम, दो घुसपैठिए ढेर

पुलवामा में मारे गए दो आतंकियों के फिलहाल शव नहीं मिले

सुरेश एस डुग्‍गर / जम्‍मू

एलओसी से सटे पुंछ जिले के बालाकोट सेक्‍टर में सेना ने घुसपैठ के एक प्रयास को नाकाम बनाते हुए दो पाकिस्‍तानी घुसपैठियों को ढेर कर उनके कब्‍जे से हथियार और गोला बारूद बरामद किया है। इस बीच सेना का दावा है कि पुलवामा में भी एक आतंकी कमांडर समत दो आतंकी मारे गए लगते हैं, जिनके शव बरामद करना बाकी है।
सेना ने सोमवार को कहा कि पुंछ जिले के बालाकोट सेक्टर एलओसी पर दो घुसपैठियों को मारकर घुसपैठ की कोशिश को नाकाम कर दिया गया। जम्मू स्थित एक रक्षा प्रवक्ता ने भी कहा कि एक एके-47, दो मैगजीन और इतने ही हथगोले बरामद किये गये। उन्होंने कहा कि खुफिया एजेंसियों और पुलिस से प्राप्त खुफिया सूचनाओं से पता चला था कि आतंकी बालाकोट सेक्टर के सामने से एलओसी पार करने की प्रतीक्षा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन सूचनाओं के आधार पर निगरानी ग्रिड को बढ़ा दिया गया था। उपयुक्त स्थान पर अलर्ट और कई घात लगाकर हमला किया गया।
प्रवक्‍ता ने कहा कि 21 अगस्त की सुबह सतर्क सैनिकों ने दो आतंकवादियों को बालाकोट के हमीरपुर क्षेत्र में खराब मौसम, घने कोहरे, घने पत्ते और उबड़-खाबड़ जमीन का उपयोग करके एलओसी पार करने का प्रयास करते हुए देखा और उन्‍हें मार डाला।
प्रवक्‍ता के अनुसार जैसे ही आतंकी अपने स्वयं के घात स्थलों के पास पहुंचे, उन्हें चुनौती दी गई और फिर प्रभावी गोलीबारी की गई। इसने (उन्हें) मौसम और जमीनी परिस्थितियों का उपयोग करके घात स्थल से भागने के लिए मजबूर किया। प्रवक्‍ता का दावा था कि प्रभावी गोलीबारी के परिणामस्वरूप एक आतंकी एलओसी के पास जमीन पर गिर गया था। उन्होंने बताया कि अतिरिक्त सैनिकों को क्षेत्र में भेजा गया और मौसम की स्थिति और दृश्यता में सुधार के बाद दोपहर में तलाशी अभियान शुरू किया गया, जिसमें दूसरे आतंकी का शव व हथियार और गोला-बारूद भी बरामद हुए।
इस बीच पुलवामा जिले में सेना ने बड़ी कामयाबी मिलने का दावा किया है। रविवार को सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच आरंभ हुइ्र मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए। मृतकों में से एक को लश्कर-ए-तैयबा का टॉप कमांडर बताया जा रहा है। अभी तक आतंकियों के शव बरामद नहीं हुए हैं। जानकारी के मुताबिक, मुठभेड़ पुलवामा जिले के लारो-परिगाम इलाके में चल रही है। दरअसल, सुरक्षाकर्मियों को परिगाम गांव में आतंकियों की आवाजाही के बारे में खुफिया जानकारी मिली थी।

अन्य समाचार