मुख्यपृष्ठसमाचारकपड़े पर महंगाई की मार! ....मजदूरों के अभाव में प्रोडक्शन में आई...

कपड़े पर महंगाई की मार! ….मजदूरों के अभाव में प्रोडक्शन में आई कमी

• ४० फीसदी लूम कारखानों में लगा ताला
सामना संवाददाता / भिवंडी
भिवंडी के कपड़ों की मांग इन दिनों जोर पकड़े हुए है, लेकिन लूम कारखानों में कपड़े का पर्याप्त प्रोडक्शन ही नहीं हो पा रहा है, जिसका मुख्य कारण मजदूरों की कमी है। जानकारी के मुताबिक मजदूरों की कमी से ४० फीसदी कारखानों में ताला लग गया है, जो कारखाने चल भी रहे हैं उसमें आधे ही मजदूर बचे हैं। मजदूरों की कमी से लूम मालिक बेहाल हैं। ऐसे में प्रोडक्शन कम होने से कपड़ों पर महंगाई की मार भी बढ़ गई है।
सात लाख हैं पॉवरलूम
भिवंडी में तकरीबन सात लाख से अधिक पॉवरलूम चलते हैं, जिसमें करीब साढ़े तीन लाख से अधिक मजदूर काम करते हैं। इन मजदूरों में से ८० प्रतिशत मजदूर उत्तर भारत से आकर पॉवरलूम कारखानों में बारह-बारह घंटे की दो शिफ्ट में कमरतोड़ मेहनत करते हैं। मुलुक में होनेवाले शादी-विवाह के सीजन तथा गर्मियों में बच्चों की स्कूल की छुट्टी होने के कारण बड़ी संख्या में उत्तर भारत के मजदूर अपने मुलुक चले गए हैं। इस कारण यहां जहां ४० प्रतिशत लूम कारखानों में ताले लटक गए हैं, वहीं अन्य कारखानों में भी मजदूरों की कमी से बुरा हाल है।
भाव डेढ़ गुना बढ़े
एस.एफ. टेक्सटाइल्स के मालिक तहजीब अंसारी, लूम मालिक राम सिंह, वी.एल. टेक्सटाइल के मालिक श्रीनिवास वल्लाल का कहना है कि मजदूरों की कमी से उनका प्रोडक्शन आधा हो गया है। कई कारखानें मजदूरों की कमी के कारण बंद हो गए हैं। उक्त लोगों का कहना है कि मजदूरों की कमी से पूरा कपड़ा उद्योग बेहाल हो गया है। कपड़े का भाव डेढ़ गुना बढ़ने के बावजूद व्यापारियों से हुए कपड़े के सौदे को वे समय से पूरा नहीं कर पा रहे हैं। मजदूरों की कमी ने लूम मालिकों की नींदें उड़ा दी है। पॉवरलूम उद्योग में मजदूरों की कमी से हाहाकार मच गया है। यही हाल यार्न डाइंग में भी है। मजदूर कॉन्ट्रेक्टर सत्तू सिंह ने बताया कि उनके पास भी ४० प्रतिशत मजदूर कम हैं।
बता दें कि भिवंडी में एक लूम मशीन पर २४ घंटे में ५० से ६० मीटर कपड़ा तैयार होता है। इसके हिसाब से यहां रोजाना चार से पांच करो़ड़ मीटर कपड़ा तैयार होता है। मजदूरों की कमी से यह प्रोडक्शन आधा हो गया है, इसमें मालिक का बिजली कस बिल व मजदूर का खर्च भी नहीं निकल पा रहा है।

अन्य समाचार