मुख्यपृष्ठसमाचारभाई की लाश लेकर भटकता रहा मासूम... थक गया पिता तो बेटे...

भाई की लाश लेकर भटकता रहा मासूम… थक गया पिता तो बेटे को थमाया शव!

यूपी का हेल्थ सिस्टम बीमार हो गया है। बागपत और देवरिया के दो वीडियो इसकी गवाही खुद ही दे रहे हैं। बागपत में पोस्टमार्टम के बाद दो साल के बेटे की लाश पिता को सौंप दी गई। उन्होंने एंबुलेंस देने को कहा तो किसी ने सुनवाई नहीं की। पहले पिता इसके बाद बच्चा, गोद में लाश लेकर एक घंटे तक इधर-उधर भटकते रहे। दूसरा वीडियो देवरिया का है, जिसमें जिला अस्पताल में बुजुर्ग मां के लिए एक युवक को स्ट्रेचर नहीं दिया गया। थोड़ी देर बाद उसकी मां की मौत हो गई।
भाई के हाथ में भाई का शव
बागपत में शुक्रवार को गुस्से में एक मां ने अपने बेटे को सड़क पर फेंक दिया था। कार के नीचे आने से दो साल के बेटे की मौत हो गई थी। शनिवार को बच्चे का पोस्टमार्टम करके शव पिता को सौंप दिया। पिता प्रवीण ने एंबुलेंस देने को कहा तो किसी ने सुना नहीं। बेबस पिता बच्चे का शव गोद में लेकर पैदल ही चल दिया। थोड़ी देर में जब वह थक गया तो उसने अपने बड़े बेटे के हाथ में शव दे दिया। पिता प्रवीण ने कहा कि बेटे की मौत की खबर सुनकर मैं राजस्थान से आया था। मेरे पास ज्यादा पैसे नहीं थे। यहां अस्पताल में भी खर्चा हो गया। प्राइवेट वाहन वाले १,००० रुपए से ज्यादा मांग रहे थे। मेरे पास किराया देने के पैसे नहीं थे। मैंने स्वास्थ्यकर्मियों से शव ले जाने के लिए एंबुलेंस मांगी थी, लेकिन नहीं मिली। इसलिए शव को पैदल लेकर जा रहा था। एक घंटे बाद हम लोगों को शव वाहन दिया गया।
देवरिया में बेटे के कंधे पर बुजुर्ग मां
दूसरा वीडियो देवरिया जिला अस्पताल का है। इसमें एक बेटा अपनी बुजुर्ग मां को वंâधे पर उठाकर घूम रहा है। वीडियो में चिल्ला-चिल्लाकर कह रहा है, ‘इमरजेंसी केस है। रेफर केस है पर स्ट्रेचर नहीं दिया जा रहा। दो स्ट्रेचर खाली हैं पर एक भी स्ट्रेचर नहीं दिया गया। मां मरने वाली है, पर स्ट्रेचर नहीं दिया जा रहा। मांगते रह गए पर स्ट्रेचर नहीं मिला है। अस्पताल के प्रभारी चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एचके मिश्रा ने बताया कि सारे आरोप बेबुनियाद हैं। युवक की बुजुर्ग मां एडमिट हुई थी। डॉक्टरों ने लखनऊ के लिए रेफर कर दिया था। इस बीच परिजन शहर के किसी प्राइवेट अस्पताल में इलाज के लिए ले गए। वहां से डॉक्टरों ने लौटा दिया। इस बीच बुजुर्ग महिला की मौत हो गई। महिला के शव को ले जाने के लिए शव वाहन की भी व्यवस्था हो गई थी लेकिन मां की मौत से नाराज युवक वीडियो बनाकर झूठे आरोप लगाने लगा। सारे आरोप बेबुनियाद हैं।

 

अन्य समाचार