मुख्यपृष्ठसमाचार‘भाग सोमैया भाग!' लगातार चार दिनों से फरार है पिता-पुत्र, पुलिस ने...

‘भाग सोमैया भाग!’ लगातार चार दिनों से फरार है पिता-पुत्र, पुलिस ने चस्पा किया नोटिस

आईएनएस विक्रांत चंदा घोटाला
 केंद्रीय गृह मंत्रालय पर उठे सवाल

 राज्य गृह विभाग करेगा केंद्र से बातचीत
सामना संवाददाता / मुंबई। आईएनएस विक्रांत के लिए चंदा घोटाला करने का मामला भाजपा नेता किरीट सोमैया पर भारी पड़ा है। वे और उनके बेटे नील सोमैया इस मामले में फरार चल रहे हैं। सोमैया की इस भागमभाग का पता महाराष्ट्र के गृह विभाग को भी नहीं चल पा रहा है। गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटील ने जानकारी दी है कि पिता-पुत्र के खिलाफ मामला दर्ज होने के बाद से उनका पता नहीं चल पाया है। सोमैया को केंद्र की ओर से जेड प्लस सुरक्षा मुहैया कराई गई है, लेकिन वे संपर्क से बाहर हैं। इस संबंध में केंद्रीय गृह मंत्रालय से बातचीत की जाएगी।
गृहमंत्री ने बताया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय से पूछा जाएगा कि आप द्वारा दी गई जेड प्लस सुरक्षा वाले कहां हैं। उन्होंने कहा कि आरोप लगाना तो आसान होता है लेकिन जब खुद पर आरोप लगे तो सामने नहीं आना यह वीरता के लक्षण नहीं हैं। गौरतलब है कि जंगी जहाज आईएनएस विक्रांत को कबाड़ में जाने से बचाने के लिए एकत्र किए गए धन की हेराफेरी का मामला सोमैया और उनके बेटे के खिलाफ दर्ज हुआ है। उन पर विक्रांत को म्यूजियम बनाने के नाम पर ५८ करोड़ रुपए चंदा इकट्ठा करके उसका गबन करने का आरोप है। मामला दर्ज होने के बाद से ही पिता-पुत्र भूमिगत हैं। सोमवार को सत्र न्यायालय ने उनकी अग्रिम जमानत अर्जी ठुकरा दी थी। पुलिस उनकी तलाश में है लेकिन उनका पता नहीं चल पा रहा है। वे संपर्क से बाहर हैं। सवाल उठ रहे हैं कि जेड प्लस सुरक्षा प्राप्त व्यक्ति गायब वैâसे हो सकता है? इस मामले में केंद्रीय एजेंसी पर भी सवाल उठने लगे हैं। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता क्लाईड क्रास्टो के अनुसार जेड प्लस सुरक्षावाला व्यक्ति लापता नहीं हो सकता। केंद्रीय एजेंसियों से निश्चित रूप से उनके ठिकाने का पता चल जाएगा। यदि किरीट सोमैया लापता हैं, तो जांच एजेंसियों को आवश्यक जानकारी प्रदान करना उनका कर्तव्य है। क्लाईड क्रास्टो ने सीधे तौर पर केंद्रीय गृह मंत्रालय की भूमिका पर आपत्ति जताई है।
कमल की मिट्टी का कीचड़ गया कहां?
मुंबई की महापौर किशोरी पेडणेकर ने भाजपा से पूछा है कि कमल की मिट्टी का कीचड़ आखिर गया कहां? वे दूसरों पर उंगली उठाकर हथौड़ा लेकर भाग रहे थे। अब नॉट रिचेबल क्यों हैं? अब कागज और कानून की लड़ाई है। हमारे पास बाबासाहेब आंबेडकर द्वारा दिया गया संविधान है। संविधान द्वारा दिए गए अधिकारों के अनुसार हम यह लड़ाई लड़ेंगे। राकांपा प्रदेश प्रवक्ता महेश तपासे ने सवाल उठाया है कि क्या सोमैया ‘मि. इंडिया’ हैं, जो गायब हो गए हैं। इधर किरीट सोमैया के घर के बाहर सड़क पर किसी अज्ञात व्यक्ति ने लिख दिया है कि ‘भाग सोमैया भाग!’
बाप के बाद बेटे की अग्रिम जमानत याचिका भी रद्द
आईएनएस विक्रांत घोटाले के मामले में पिता किरीट सोमैया के बाद अब पुत्र नील सोमैया की अग्रिम जमानत याचिका भी कोर्ट ने खारिज कर दी है। इसके बाद गिरफ्तारी के डर से दोनों पिता-पुत्र भागे-भागे फिर रहे हैं। अब इस मामले की जांच मुंबई पुलिस की ईओडब्ल्यु कर रही है। ईओडब्ल्यु ने कल बाप-बेटे के घर पर नोटिस चस्पा कर उन्हें हाजिर होने को कहा है। भाजपा नेता किरीट सोमैया के साथ पुत्र नील सोमैया ने भी ‘विक्रांत’ को बचाने के नाम पर जनता से चंदा वसूल किया था। पिता-पुत्र ने जमा रुपए सरकार के कोश में जमा नहीं कराया, जिसके बाद रिटायर आर्मी जवान ने पिता-पुत्र के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। मुंबई पुलिस की ईओडब्ल्यू की टीम भाजपा नेता किरीट सोमैया और उनके पुत्र की तलाश कर रही है। ईओडब्ल्यू टीम जगह-जगह छापेमारी कर रही है। कल टीम ने सोमैया के कार्यालय और अन्य परिसरों में तलाशी ली लेकिन उनका कोई पता नहीं चला।

अन्य समाचार