मुख्यपृष्ठअपराधअंतर्वेग : लव के लिए कत्ल किया रे!

अंतर्वेग : लव के लिए कत्ल किया रे!

हमारे समाज में विवाह एक पवित्र बंधन है। इसके दौरान सात जन्मों तक एक-दूसरे के साथ जीने-मरने की कसमें खाई जाती हैं। लेकिन आज के कलियुग के दौर में कुछ लोग अपने जीवनसाथी को मारने तक से पीछे नहीं हट रहे। ऐसा ही एक मामला सामने आया हैं, जहां पर एक पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या कर दी। बता दें कि आरोपियों ने वारदात को दिवाली के दिन अंजाम दिया। जिस समय पटाखे चल रहे थे, आरोपियों ने करंट लगाकर उसकी हत्या कर दी ताकि चिल्लाने की आवाज पटाखों की आवाज के नीचे दब जाए। वारदात के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। पुलिस ने इस मामले में मृतक विनोद के भाई हिमाचल प्रदेश के बद्दी जिला में रहनेवाले मनोज राम की शिकायत पर विनोद की पत्नी रंजीता देवी और उसके प्रेमी गोपाल कुमार के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। पुलिस ने दोनों को इलाके से ही गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ करने में जुटी है। मनोज कुमार की शिकायत के मुताबिक उसके भाई विनोद की शादी २००३ में आरोपी रंजीता के साथ हुई थी। दोनों भोला कॉलोनी इलाके में रहते थे। इसी दौरान रंजीता के गोपाल के साथ प्रेम संबंध बन गए। इस बारे में विनोद को पता चल गया था जिस कारण छह महीने से वह परेशान था। दिवाली के दिन दोनों में खूब झगड़ा हुआ, जिसके बाद पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर बिजली का करंट लगाकर पति की हत्या कर दी।
उसे बीवी पर तरस भी नहीं आई
भाईदूज पर अपने मायके जाने की जिद एक महिला को बहुत भारी पड़ गई और उसके इसी जिद ने उसकी जान ले ली। उत्तर प्रदेश के बरेली से एक बेहद चौंका देनेवाला मामला सामने आया है, जहां एक पति ने बड़ी बेरहमी के साथ पत्नी की गला रेतकर उसकी हत्या की और खुद भी आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि भाईदूज पर पत्नी मायके जाने की जिद कर रही थी। इसी बीच पति आपा खो बैठा। पड़ोसियों के मुताबिक जिस तरह महिला की चीखें गूंज रही थीं, उससे लगा कि उसके पति ने ताबड़तोड़ कई वार किए होंगे। दलीपुर निवासी रामेश्वर उर्फ मैकूलाल (२६) व उसकी पत्नी सीमा (२२) के बीच सुबह से विवाद हो रहा था। इस बीच पति ने खुरपी से गला काटकर सीमा की हत्या कर दी। फिर खुद कमरा बंद कर फंदे से लटक गया। बताया जा रहा है कि मैकूलाल कुछ समय से मानसिक रूप से परेशान था। वह दिल्ली में प्राइवेट नौकरी करता था, वहीं के एक अस्पताल से उसका इलाज चल रहा था। मिली जानकारी के अनुसार, मैकूलाल की शादी छह साल पहले हुई। उसका पांच साल का बेटा राजीव व तीन साल का बेटा शिवा है। घटना के बाद भी उन्हें अनाथ होने का अहसास नहीं था। छोटा बेटा बार-बार भागकर सीमा के शव की ओर जा रहा था। वह मां को पुकार रहा था तो दादी व अन्य महिलाओं ने उसे समझाया। मैकूलाल के परिवार में तीन भाइयों के पास कुल पांच बीघा जमीन है और कमाई का खास सहारा नहीं है।

अन्य समाचार