मुख्यपृष्ठनए समाचारसीतापुर में शिव का अपमान! शौचालयों के अंदर लगाए शिवलिंग और हिंदू...

सीतापुर में शिव का अपमान! शौचालयों के अंदर लगाए शिवलिंग और हिंदू प्रतीकों की तस्वीर वाली टाइल्स

  • स्वच्छ भारत मिशन के तहत बने हैं शौचालय

सामना संवाददाता / सीतापुर
पैगंबर मोहम्मद पर भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा की विवादित टिप्पणी के बाद दुनियाभर में मुसलमान अपने आक्रोश का प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी बीच देश का माहौल बिगाड़ने का प्रयास करनेवाली एक और घटना सामने आई है। ये घटना मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सीतापुर की बताई जा रही है, जहां शौचालय में भगवान शिव व हिंदुओं के अन्य देवी-देवताओं की तस्वीर वाली टाइल्स लगाए जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। खासबात ये है कि जिन शौचालयों में हिंदुओं की आस्था को चोट पहुंचानेवाली कथित टाइल्स लगाई गई हैं वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के महत्वाकांक्षी ‘स्वच्छ भारत मिशन’ के तहत वर्ष २०१८-१९ में बनाए गए हैं। शौचालयों में हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरों वाली टाइल्स से संबंधित वीडियो वायरल आने के बाद अब इसका खुलासा हुआ है। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने पूर्व ग्राम प्रधान सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।
बता दें कि यूपी के सीतापुर जिले में सार्वजनिक शौचालयों के अंदर शिवलिंग और हिंदू प्रतीकों की तस्वीर वाले टाइल्स लगाने का मामला सामने आया है। हिंदू संगठनों को भनक लगी तो मामला पहले सोशल मीडिया पर और फिर मुख्यमंत्री व डीजीपी कार्यालय तक पहुंच गया। बाद में डीएम ने जांच शुरू कराई और पुलिस ने धार्मिक भावनाओं को आहत करने की एफआईआर दर्ज करते हुए महिला प्रधान समेत ३ को गिरफ्तार कर लिया। मामला सीतापुर की महमूदाबार तहसील के बर्रा बेरौरा गांव का है। रिपोर्ट के मुताबिक साल २०१८-१९ में गांव में स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालयों का निर्माण कराया गया था। उस समय महिला प्रधान रेशमा थीं। आरोप है कि ये शौचालय उनकी देखरेख में तैयार कराए गए। २ दिन पहले गांव की हिंदू आबादी के लोगों को इस बात की जानकारी मिली तो भड़क गए। गांव में काफी हंगामा हुआ। हिंदू सगठनों ने तस्वीरें सोशल मीडिया के जरिए डीजीपी ऑफिस तक पहुंचा दीं। मामला संज्ञान में आने पर पुलिस मौके पर पहुंची और माहौल को शांत किया। पुलिस ने ऐसे शौचालयों को फिलहाल बंद करवा दिया है। इस मामले में एसपी आरपी सिंह ने बताया कि पूर्व प्रधान रेशमा व उसके पति बुनियाद सहित एक सहयोगी रहमुल्लाह के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। तीनों को गिरफ्तार किया गया है। सीतापुर के डीएम अनुज सिंह का कहना है कि पूरे मामले की जांच कराई जा रही है। वहीं, गिरफ्तार महिला ग्राम प्रधान ने अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज किया है। उनके मुताबिक शौचालय का निर्माण ४ साल पहले हुआ था। उस वक्त वो ग्राम प्रधान नहीं थीं।

अन्य समाचार