मुख्यपृष्ठनए समाचारइंतहा हो गई इंतजार की.... ४ बार डेडलाइन बीत जाने के बाद...

इंतहा हो गई इंतजार की…. ४ बार डेडलाइन बीत जाने के बाद भी ६०५ करोड़ रुपए का सड़क कार्य लटका!

परेशान हैं ठाणेकर, क्या कर रही राज्य सरकार
सामना संवाददाता / ठाणे

ठाणे शहर की सड़कों को गड्ढामुक्त बनाने के लिए राज्य सरकार की ओर से ६०५ करोड़ रुपए निधि ठाणे मनपा को उपलब्ध कराई गई है। इस निधि से २८३ सड़कों का नवीनीकरण एवं मरम्मत का कार्य दो चरणों में किया जा रहा है, लेकिन इन सड़क कार्य को पूरा करने के लिए चार बार दी गई डेडलाइन बीत चुकी है। बताया जा रहा है कि पहले चरण का ९० प्रतिशत और दूसरे चरण का ७५ प्रतिशत सड़कों का काम पूरा हो चुका है। आज भी शहर के विभिन्न हिस्सों में बची हुई सड़कों पर काम चल रहा है। दो चरण के सड़क कार्यों की चौथी समय सीमा ३१ जनवरी थी, लेकिन अभी तक सड़क का काम पूरा नहीं हो पाया है और चौथी बार भी डेडलाइन पूरी हो गई है।

सड़कें कब होंगी गढ्ढा मुक्त
बता दें कि राज्य सरकार ने दो चरणों में सड़कों के लिए ६०५ करोड़ का फंड मंजूर किया है। पहले चरण में १२७ सड़कों के लिए २१४ करोड़ और दूसरे चरण में १५७ सड़कों के लिए ३९१ करो़ड़ रुपए की निधि उपलब्ध कराई गई है। इसमें १०.४६ किमी लंबी कांक्रीट सड़कें, ५९.३१ किमी लंबी यूटीडब्ल्यूटी, ४६.७७ किमी लंबी डामर की सड़कें, १९.१२ किमी मैस्टिक सड़कें बनाई जा रही हैं। लेकिन ठाणे की सड़कें अब तक गड्ढामुक्त नहीं हो सकी हैं।
१५ फरवरी है पांचवी डेडलाइन
महानगरपालिका का दावा है कि १५ फरवरी तक सड़क का काम पूरा हो जाएगा। मनपा के अनुसार, अब तक २८४ सड़कों में से २५० सड़कें पूरी हो चुकी हैं। शेष ३४ सड़कों में से २४ सड़कों का निर्माणकार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है जिसमें तीन सड़कें कलवा-४, मुंब्रा-२, दिवा-४, घोड़बंदर-३, वर्तकनगर-२, वागले-२ और अन्य जगहें शामिल हैं। मनपा ने यह काम १५ फरवरी तक पूरा करने का दावा किया है। यह भी पता चला है कि शेष १० सड़कों का काम जगह के अभाव में शुरू नहीं हो सका है।

• दोनों चरणों में सड़क का काम पूरा करने के लिए आयुक्त अभिजीत बांगर ने पिछले महीने लोक निर्माण विभाग की बैठक ली थी। इस बैठक में चौथी बार इन सड़क कार्यों को ३१ जनवरी तक पूरा करने की डेडलाइन दी गई थी।
• उन्होंने यह भी आश्वासन दिया कि इस अवधि के दौरान सड़क का काम पूरा कर लिया जाएगा, लेकिन अभी भी करीब ३४ सड़कें अधूरी बताई जा रही हैं।
• दो चरणों में हो रहे कुल २८४ सड़कों के काम को पूरा करने के लिए कमिश्नर बांगर ने ३१ मई २०२३ को पहली मोहलत दी, लेकिन तब तक सिर्फ ४० फीसदी काम ही पूरा हो पाया था, फिर समय सीमा ३० जून तक बढ़ा दी गई। ठाणे में सड़क कार्यों की समय सीमा बढ़ने से नागरिकों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

अन्य समाचार