मुख्यपृष्ठस्तंभअंतर्वेग : नशे में विधायक बना बवाली!

अंतर्वेग : नशे में विधायक बना बवाली!

जितेंद्र मल्लाह
नशे की लत इंसान को बर्बाद कर देती है। नशेड़ी लोग अच्छे-बुरे की सुध खो बैठते हैं। कई बार तो ऐसे लोगों को सब कुछ बर्बाद करने के बाद भी होश नहीं आता है। नशे की लत के कारण उत्तर प्रदेश के एक पूर्व विधायक का जीवन कुछ ऐसे ही मोड़ पर पहुंच गया है। पूर्व विधायक बृजेश प्रजापति को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोप है कि उन्होंने अपनी पत्नी को कार से कुचल कर मारने का प्रयास किया था। ये पूर्व विधायक सपा की टिकट पर बांदा की तिंदवारी विधानसभा से चुनाव लड़ चुके हैं। बताया जा रहा है पूर्व `विधायक’ पति की प्रताड़ना के कारण परेशान पत्नी मायके में रह रही है। शुक्रवार की देर रात के समय नशे में धुत पूर्व विधायक ने ससुराल पहुंच कर जमकर बवाल काटा। ससुराल पहुंचे पूर्व विधायक अपनी पत्नी और ससुरालवालों को गाली देते हुए उनके मकान के गेट पर कार से टक्कर मारने लगे। यह सब देख जब पत्नी घर से बाहर निकली तो उसे भी कार से कुचलने का प्रयास करने लगे। बाद में वे कार से उतर कर पत्नी को पीटने लगे। इसके बाद बृजेश प्रजापति ने अपनी पत्नी के पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी भी दी। ससुराल वालों की शिकायत के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने पूर्व विधायक के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें हिरासत में ले लिया है। पूर्व विधायक की पत्नी शालिनी प्रजापति ने पति पर आरोप लगाते हुए बताया कि उनका पति नशे का आदी है। अक्सर ही उनके साथ मारपीट करता रहता है। पति की हरकतों से परेशान होकर वे १५ अगस्त को बच्चों के साथ मायके आ गई थीं। इसके बाद वहां आकर भी पत्नी समेत ससुरालवालों को भद्दी-भद्दी गालियां देता रहा।

कुत्ते पर रार ने बनाया जानवर
कुत्ते को लेकर घर में शुरू हुई रार के कारण मध्य प्रदेश के एक परिवार में मातम मच गया। दरअसल, कुत्ते के भौंकने के कारण शुरू हुई रार एक बड़े बवाल का कारण बन गई। कुत्ते के भौंकने की वजह से जानवर बने शख्स ने आवेश में आकर अपनी पत्नी और दो बच्चों को मौत के घाट उतारने के बाद अपना भी गला काट लिया। दिल दहला देने वाली घटना मध्य प्रदेश के बड़नगर तहसील अंतर्गत ग्राम बालोदा की है। बताया जा रहा है कि शनिवार की रात गांव का निवासी दिलीप पवार शराब के नशे में घर जा रहा था। इस दौरान घर के पास एक कुत्ता उस पर भौंकने लगा। कुत्ते का भौंकना दिलीप को नागवार लगा। वह दौड़कर घर पहुंचा और घर से तलवार लाकर कुत्ते को मारने का प्रयास करने लगा। इस दौरान उसकी पत्नी गंगाबाई ने उसे रोका तो दिलीप ने गंगाबाई पर ही हमला कर दिया। १७ वर्षीया बेटी नेहा और १४ वर्षीय बेटे योगेंद्र ने खून से लथपथ मां गंगाबाई की मदद करने की कोशिश की तो दिलीप ने उन दोनों पर भी तलवार से हमला कर दिया। दिलीप इतने पर ही नहीं रुका, उसने अपने अन्य बच्चों (बेटे देवेंद्र और एक अन्य बेटी बुलबुल) को भी मारने का प्रयास किया। लेकिन उक्त दोनों बच्चे छत से कूदकर भाग गए। बाद में दिलीप ने तलवार से अपना भी गला काट लिया। देवेंद्र और बुलबुल से मिली जानकारी के बाद गांववासी मौके पर पहुंचे और उन्होंने पुलिस को सूचित किया। इस घटना से ग्रामीण सदमे में हैं और पूरे गांव में सन्नाटा पसर गया है।

अन्य समाचार