मुख्यपृष्ठस्तंभअंतर्वेग: इंस्टा पर अपमान का बदला!

अंतर्वेग: इंस्टा पर अपमान का बदला!

जितेंद्र मल्लाह

मार से ज्यादा गहरे अपमान के घाव होते हैं। भरे चौक में पिटाई से आहत ऐसे ही एक युवक ने पीटनेवाले शख्स की नृशंसतापूर्वक हत्या करके अपने अपमान का बदला लिया। यह घटना बीते गुरुवार को नासिक के अंबड स्थित शिवाजी चौक पर घटी। जहां संदीप नामक युवक की कुछ लोगों ने धारदार हथियारों से वार करके नृशंसतापूर्वक हत्या कर दी। उक्त घटना मौके पर लगे सीसीटीवी फुटेज में वैâद हो गई। बताया जा रहा है कि संदीप ने कुछ दिन पहले ओम पवार उर्फ ओम्या खटीक नामक युवक को शिवाजी चौक पर बुरी तरह पीटा था। इतना ही नहीं संदीप ने ओम्या की पिटाई का वीडियो बनाकर सोशल नेटवर्किंग साइट इंस्टाग्राम पर वायरल किया था। पिटाई से ज्यादा वायरल हुए वीडियो से ओम्या आहत था। वह किसी भी कीमत पर अपने उक्त अपमान का बदला लेना चाहता था। गुरुवार की शाम ओम्या और उसके साथियों को उस वक्त बदला लेने का मौका मिल गया, जब उन्हें संदीप अकेले पानी-पूरी खाता दिखा। हैरानी की बात यह है कि संदीप द्वारा पिटाई का ओम्या और उसके साथियों ने न केवल कत्ल करके बदला लिया बल्कि उन्होंने कत्ल का वीडियो भी वायरल किया।

बांझ अच्छे होते!
कहते हैं जोड़ियां आसमानों में बनती हैं अर्थात किसका जीवनसाथी कौन और कब बनेगा? वो कैसे मिलेगा? ये `भगवान’ पहले ही तय कर देते हैं। बस सही वक्त आने पर लोग मिलते हैं और बात आगे बढ़ती है। लेकिन उसी सही वक्त का इंतजार करते-करते ईश्वर नामक एक २१ वर्षीय दिव्यांग युवक के सब्र का बांध टूट गया। उसने अपने लिए दुल्हन न ढूंढ़ पाने और शादी में देरी के लिए अपनी मां वेंकटम्मा को दोषी करार देते हुए उसे मौत के घाट उतार दिया। उक्त सनसनीखेज घटना तेलंगाना के सिद्दीपेट जिले की है। यहां पुलिस ने एक युवक को उसी की ४५ वर्षीय मां की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि कथित तौर पर अपनी शादी के लिए उपयुक्त लड़की नहीं ढूंढ़ पाने के कारण आरोपी ने अपनी मां की ईंट से पीट-पीटकर नृशंसतापूर्वक हत्या कर दी और बाद में उसका गला रेत दिया और पैर काट दिया, ताकि वारदात को चोरी के लिए हत्या करार देकर पुलिस को गुमराह कर सके। पुलिस अफसरों ने गुरुवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि यह घटना बुधवार और गुरुवार की दरमियान रात को जिले के बांदा मैलाराम गांव में महिला के घर पर हुई। पुलिस के मुताबिक, हत्या के सिलसिले में महिला के बेटे और एक अन्य रिश्तेदार को गिरफ्तार किया गया है। सिद्दीपेट पुलिस ने बताया कि महिला की बेटी की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया गया है और जांच के दौरान पीड़ित के बेटे और एक अन्य रिश्तेदार ने अपराध कबूल भी कर लिया। पुलिस की जांच को गुमराह करने के लिए युवक ने उसका गला रेत दिया और पैर भी काट दिए। अब जिस किसी को भी ईश्वर की करतूत के बारे में पता चल रहा है वह यही कह रहा है कि ऐसी औलाद से तो बांझ ही अच्छे।

अन्य समाचार

लालमलाल!