मुख्यपृष्ठअपराधतहकीकात : प्यार, तकरार, मर्डर! ...शादी से इनकार करने पर प्रेमिका का...

तहकीकात : प्यार, तकरार, मर्डर! …शादी से इनकार करने पर प्रेमिका का कर दिया मर्डर

 
प्रेमी को हुई उम्रकैद

प्रेम करना पाप नहीं है, लेकिन प्रेम अपने अंजाम तक नहीं पहुंचता है तो परिणाम बड़ा ही भयानक होता है। आज के इस तहकीकात में ऐसे ही प्रेम के भयानक परिणाम से जुड़ी एक घटना पर प्रकाश डालेंगे। कोपरी इलाके की इस घटना में एक प्रेम संबंधोें की ऐसी त्रासदी जिसे सुनकर सिर्फ अफसोस किया जा सकता है।
क्या था मामला?
११  फरवरी, २०१५ की सुबह ७ बजे के करीब एपीएमसी पुलिस स्टेशन का फोन बजा। फोन करनेवाले व्यक्ति ने पुलिस को बताया कि कोपरी गांव से बोनकोडे के तरफ जानेवाले रोड पर ब्रिज के नीचे नाले में एक महिला का शव बेड सीट में लिपटा पड़ा हुआ है। इस जानकारी के बाद एपीएमसी पुलिस मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लिया और वाशी स्थित मनपा अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पोस्टमार्टम में महिला की हत्या किए जाने का खुलासा हुआ। जिसके बाद पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू की। मृत महिला की शिनाख्त नहीं हो पाने के कारण पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। पुलिस ने कई टीमों का गठन कर अलग-अलग एंगल से जांच शुरू किया। इसी दौरान ठाणे में महिला के परिजनों का पता चला। उन्होंने महिला की पहचान शिल्पा उर्फ किस्मत शाबीर गुदडावत (२५) के रूप में की। परिजनों ने संदेह व्यक्त करते हुए पुलिस को बताया कि शिल्पा की हत्या उसके प्रेमी दंगल सिंह उर्फ भूप सिंह कुमावत (२९) ने की होगी। जब पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की तो पता चला कि प्रेमी दंगल सिंह कुमावत अपने मूल गांव मध्य प्रदेश स्थित शिवपुरी जिला के डाबरपुरा भाग गया है। जिसके बाद पुलिस उसके गांव पहुंचकर उसे मुंबई लाई। पुलिस की पूछताछ में दंगल सिंह ने सारा सच उगल दिया और बताया कि उसने ही शिल्पा की हत्या की है।

ऐसे खुला हत्या का राज
पुलिस ने मृतक के परिजनों को बुलाकर पूछताछ की तो यह जानकारी सामने आई कि शिल्पा की शादी राजस्थान निवासी दंगल सिंह के साथ निश्चित हुई थी लेकिन किसी कारणवश विवाह नहीं हो पाया था। इसके बाद शिल्पा वापस मुंबई आ गई। मुंबई में आकर वह बार व लॉज में काम करने लगी थी। शादी नहीं होने के बावजूद दंगल सिंह उससे लगातार संपर्क में बना रहा और वह मिलने के लिए ठाणे व नई मुंबई में आया करता था।
घटना के दिन दंगल सिंह ने फोन करके शिल्पा को कोपरखैरने बुलाया। जब वह आई तो दंगल सिंह उसे सेक्टर १२ स्थित अपने घर ले गया और उसके साथ शारीरिक संबंध बनाया। इसी बीच विवाह के मुद्दे पर दोनों में बहस शुरू हो गई। शिल्पा की ना-नुकुर से गुस्साए दंगल सिंह ने गला दबाकर उसे मौत के घाट उतार दिया। जब शिल्पा की मौत हो गई तो उसने बेड सीट से शव को लपेटकर उसे कोपरी पुल के नीचे नाले में फेंक दिया। शव को नाले में फेंकने के बाद वह अपने गांव भाग गया। आखिरकार, पुलिस ने बिना किसी सबूत के इस मामले को सुलझाते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर हवालात में पंहुचा दिया। इस मामले में अब कोर्ट ने आरोपी के खिलाफ गवाहों के बयान के आधार पर उम्रवैâद की सजा सुनाई है, जबकि हत्या का दोषी प्रेमी अब अपने गुनाहों की सजा काट रहा है।

 

अन्य समाचार