" /> कहीं ये इनोवा वही तो नहीं?…जांच के लिए एनआईए ले गई सीआईयू की गाड़ी

कहीं ये इनोवा वही तो नहीं?…जांच के लिए एनआईए ले गई सीआईयू की गाड़ी

स्कॉर्पियो के साथ एक इनोवा के भी होने की थी खबर
तमाम तलाशी के बाद भी इनोवा का पता नहीं चला

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने रविवार को एक गैरेज से क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट (सीआईयू) की इनोवा गाड़ी को उठाया और अपने दफ्तर ले गई। बताया जा रहा है कि एनआईए को शक है कि स्कॉर्पियो के बाद सीसीटीवी फुटेज में दिखी दूसरी सफेद रंग की इनोवा कहीं वही तो नहीं है? इसके बाद इनोवा को पैडर रोड स्थित एनआईए के दफ्तर जांच के लिए लेकर जाया गया है।
दरअसल, सीसीटीवी फुटेज देखने पर पता चला कि २५ फरवरी की रात १ बजकर २० मिनिट पर सफेद रंग की इनोवा और स्कॉर्पियो ठाणे से मुंबई में घुसी और इसके बाद १ बजकर ४० मिनिट पर स्कॉर्पियो और इनोवा दोनों गाड़ी चूनाभट्टी के प्रियदर्शनी चौक पर एक साथ देखी गई। कर्मिकल रोड पर पहुंचने के बाद स्कॉर्पियो का चालक उसे वहां पार्क कर देता है। इसके बाद इनोवा गाड़ी आती है। यह गाड़ी ३ बजकर ५ मिनट पर मुलुंड चेकनाका से बाहर चली जाती है लेकिन सूत्रों के मुताबिक उसी इनोवा गाड़ी के ड्राइवर ने गाड़ी का नंबर प्लेट फिर से बदला और सुबह करीब ४ बजकर ३ मिनट पर इनोवा फिर से मुलुंड टोल पार कर मुंबई में घुस गई। मुंबई पुलिस के मुताबिक इनोवा गाड़ी का नंबर प्लेट पर MH 01 ZA 403  लिखा हुआ है जो ताड़देव आरटीओ में पंजीकृत है। बताया जा रहा है कि सीआईयू के ४ लोगों को एनआईए ने पूछताछ के लिए बुलाया है, जिसमें इनोवा का ड्राइवर भी शामिल है।

२५ मार्च तक एनआईए की हिरासत में रहेंगे सचिन वाझे
एनआईए से बुलावा आने के बाद सचिन वाझे पूछताछ के लिए शनिवार सुबह करीब ११ बजे एनआईए के दफ्तर पहुंचे थे। १२ घंटे की पूछताछ के बाद सचिन वाझे को शनिवार रात ११ बजकर ५० मिनट पर गिरफ्तार कर लिया गया। बताया जा रहा है कि देर रात उनकी तबीयत बिगड़ने के कारण उन्हें अस्पताल ले जाया गया था। उन्हें रविवार को एनआईए के विशेष कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें २५ मार्च तक एनआईए की हिरासत में रखने का आदेश दिया गया है। एनआईए ने जब जिलेटिन मामले की जांच शुरू की तो सचिन को सीआईयू से हटाकर नागरिक सुविधा केंद्र यूनिट में तबादला किया गया था। इसके बाद उन्हें स्पेशल ब्रांच में तबादला कर दिया गया।