मुख्यपृष्ठनए समाचारनेपाल में निकला आईएसआई एजेंट ‘दर्जी’ का दम ...फिल्मी अंदाज में दौड़ाकर...

नेपाल में निकला आईएसआई एजेंट ‘दर्जी’ का दम …फिल्मी अंदाज में दौड़ाकर गोली मारी!

• बाप को बचाने के लिए छत से कूदी बेटी
• सीसीटीवी में कैद हो गई पूरी वारदात 
• हिंदुस्थान में सप्लाई करता था जाली नोट
• ‘डी’ गैंग के भी था संपर्क में
सामना संवाददाता / काठमांडू
पाकिस्तान के एक आईएसआई एजेंट की गोली मारकर अज्ञात हमलावरों ने हत्या कर दी। हत्या की यह पूरी घटना सीसीटीवी वैâमरे में भी दर्ज हो गई। आईएसआई एजेंट का नाम लाल मोहम्मद उर्फ मोहम्मद दर्जी था। दर्जी जब कार से अपने घर आया तभी वहां छिपे हमलावरों ने उसके ऊपर गोलियां बरसानी शुरू कर दी। यह देखकर दर्जी भागने लगा तो हमलावरों ने फिल्मी अंदाज में उसे दौड़ाकर गोली मारी। इस गोलीबारी में दर्जी का दम निकल गया। अपने बाप को बचाने के लिए मोहम्मद दर्जी की बेटी छत से कूद गई लेकिन वो अपने बाप को बचा नहीं पाई।
सीसीटीवी फुटेज में ये सारी घटना वैâद हो गई है, जिसमें साफ दिखता है कि मोहम्मद दर्जी अपनी गाड़ी से घर लौटा था। जब वो गाड़ी से निकला और घर की ओर बढ़ने लगा उसी वक्त घात लागए बैठे हमलावरों ने उस पर हमला कर दिया। दर्जी बचने के लिए गाड़ी के पीछे छिपकर बैठ गया। लेकिन हमलावरों ने गोलियां बरसाना जारी रखा। इसके बाद वह भागने लगा तो पीछे से दौड़ाकर हमलावरों ने उसे जान से मार दिया। सीसीटीवी में दिखाई दे रहा है कि जब हमलावर गोलीबारी कर रहे थे तब घर की छत से एक महिला कूदी। जब तक वह महिला हमलावरों तक पहुंचती इससे पहले ही वे हत्या को अंजाम देकर मौके से भाग निकले। आईएसआई का एजेंट मोहम्मद दर्जी हिंदुस्थान में जाली नोटों का सबसे बड़ा सप्लायर था। यह आईएसआई के लिए एक लॉन्च पैड की तरह काम करता था। जाली नोटों के धंधे के अलावा आईएसआई को हिंदुस्थान में ऑपरेशन के लिए यह लॉजिस्टिक भी सप्लाई करता था। इतना ही नहीं, यह आईएसआई एजेंट्स को पनाह देने का काम भी करता था। दर्जी के कनेक्शन पाकिस्तान के साथ ही ‘डी’ गैंग से भी थे। दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में ही रहकर अपने सभी धंधे हिंदुस्थान में ऑपरेट कर रहा है। ऐसे में दर्जी उसे इन धंधों को हैंडल करने में मदद करता था। जानकारी के मुताबिक वह काठमांडू के कोठाटार इलाके में रह रहा था, जहां घर के बाहर उसकी हत्या की गई है। आईएसआई के इशारे पर वह पाकिस्तान और बांग्लादेश से फर्जी करेंसी नेपाल मंगवाकर हिंदुस्थान में सप्लाई करता था।

अन्य समाचार