मुख्यपृष्ठनए समाचारदिल दा मामला है!.... ठाणे के मनपा अस्पताल में एक साल से...

दिल दा मामला है!…. ठाणे के मनपा अस्पताल में एक साल से हो रहा है हृदय रोगियों का इलाज

• पहले रोगियों को ले जाना पड़ता था मुंबई
•  देरी से कई मरीजों की हो जाती थी मौत
सामना संवाददाता / ठाणे । ठाणेकरों का दिल ठीक तरह से धड़के और उनका इलाज ठाणे में ही हो इसलिए ठाणे मनपा ने छत्रपति शिवाजी महाराज अस्पताल में दिल के इलाज की सेवा शुरू की थी। इसका फायदा अब ठाणेकरों को मिलने लगा है। पिछले साल जनवरी से लेकर अब तक ३,००० मरीजों के दिल की सफल सर्जरी की जा चुकी है।
बता दें कि जिला अस्पताल के साथ-साथ मनपा का छत्रपति शिवाजी महाराज अस्पताल ग्रामीण क्षेत्रों में कई मरीजों के इलाज का मुख्य आधार है। पिछले साल तक इन सरकारी अस्पतालों में दिल के मरीजों का तुरंत इलाज नहीं होता था और जोखिम में उन्हें मुंबई शिफ्ट करना पड़ता था। ‘गोल्डन ऑवर’ में इलाज के अभाव में मुंबई ले जाने तक कई लोगों की जान चली जाती थी। ऐसे मरीजों के लिए यह अस्पताल जीवनदायनी साबित हो रहा है।
सरकारी अस्पतालों में कई सामान्य व गरीब मरीजों का इलाज चल रहा है। निजी अस्पतालों में इलाज का भारी पैकेज है, जिसे आम और गरीब मरीजों के लिए उठा पाना मुश्किल है। इसे संज्ञान में लेते हुए ठाणे मनपा ने २७ जनवरी, २०२१ से कलवा स्थित छत्रपति शिवाजी महाराज अस्पताल में ७५ बेड का कार्डियोलॉजी विभाग शुरू किया था। यह विभाग ठाणे मनपा और धर्मवीर आनंद दिघे हार्ट केयर सेंटर के माध्यम से पीपीपी के आधार पर चलाया जा रहा है। वर्तमान में २८ बिस्तरोंवाली गहन चिकित्सा इकाई है, जिसमें कुल १४० कर्मचारी और पूर्णकालिक डॉक्टर हैं। विभाग मरीजों को ईसीजी, टू-डी इको, एंजियोग्राफी, एंजियोप्लास्टी, बाईपास, वॉल्व सर्जरी जैसी मुफ्त सर्जरी और परीक्षण प्रदान करता है। अबतक ३ हजार से ज्यादा सर्जरी की जा चुकी है। ‘कलवा अस्पताल में पिछले साल से कार्डियोलॉजी विभाग शुरू किया गया है। इसका फायदा ठाणे के शहरी और ग्रामीण इलाकों के मरीजों को मिल रहा है। वर्तमान में मरीज ज्यादा और बेड कम हैं, इसलिए बिस्तरों की संख्या में ५० और वृद्धि करने की आवश्यकता है। इसके लिए जगह की आवश्यकता होने पर ठाणे मनपा आयुक्त को प्रस्ताव दिया जाएगा, ऐसी जानकारी परियोजना प्रमुख सुनील सुलेभावकर ने दी।
इलाजों की संख्या
एंजियोग्राफी – २,०८४
एंजियोप्लास्टी – ९१६
बाईपास – २०६
वॉल्व सर्जरी – ३३
डबल वॉल्व – ०८

अन्य समाचार