मुख्यपृष्ठनए समाचारगलती म्हारे से हो गई! ... अशोक गहलोत ने सोनिया गांधी से मांग...

गलती म्हारे से हो गई! … अशोक गहलोत ने सोनिया गांधी से मांग ली माफी

•  नहीं जाएगी कुर्सी, बने रहेंगे राजस्थान के सीएम
सामना संवाददाता / नई दिल्ली
मशहूर गाना ‘राणाजी माफ करना, गलती म्हारे से हो गई…’ की तर्ज पर कल राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने सोनिया गांधी से माफी मांग ली। पिछले कई दिनों से गहलोत ने सचिन पायलट को नया सीएम बनाए जाने की खबर आने के बाद बगावती तेवर अपना रखा था।
बता दें कि गहलोत ने काफी इंतजार के बाद कल दिल्ली आकर सोनिया गांधी से मुलाकात कर अपना पक्ष रखा था। इसके साथ ही गहलोत ने साफ कर दिया है कि वह कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव नहीं लड़ेंगे। उन्होंने नई दिल्ली में कांग्रेस चीफ सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद कहा कि मैंने उनके साथ बैठक में पूरी बात रखी। गहलोत ने कहा कि पिछले दिनों की घटना ने हम सब को हिलाकर रख दिया। पूरे देश में मैसेज गया कि मैं मुख्यमंत्री बना रहना चाहता हूं, मैंने सोनिया गांधी से माफी मांगी है। मैंने पिछले ५० सालों तक कांग्रेस के लिए वफादारी के साथ काम किया है। मैं सोनिया गांधी के आशीर्वाद से तीसरी बार सीएम बना। अशोक गहलोत से जब पूछा गया कि क्या वह मुख्यमंत्री बने रहेंगे? इसपर उन्होंने कहा कि ये पैâसला मैं नहीं, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी लेंगी।

दिग्वजिय सिंह और शशि थरूर में होगा मुकाबला
अशोक गहलोत ने ऐसे समय में कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव नहीं लड़ने का एलान किया है, जब पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह इस चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने की तैयारी में हैं। लोकसभा सदस्य शशि थरूर आज ३० सितंबर को अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करेंगे। बता दें कि राजस्थान में राजनीतिक संकट के बीच पार्टी पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खड़गे और अजय माकन ने गत मंगलवार (२७ सितंबर) को ‘घोर अनुशासनहीनता’ के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के करीबी तीन नेताओं के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की अनुशंसा की थी। इसके कुछ देर बाद ही पार्टी की अनुशासनात्मक कार्रवाई समिति की ओर से इन्हें ‘कारण बताओ नोटिस’ जारी कर दिए थे।

राजस्थान में संकट से पहले गहलोत ने कहा था कि वह पार्टी अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल करेंगे। हालांकि राज्य के राजनीतिक घटनाक्रम के बाद से ही उनकी इस उम्मीदवारी पर प्रश्नचिह्न लग गया था। अब उन्होंने सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद साफ कर दिया कि वह चुनाव नहीं लड़ने जा रहे हैं।

अन्य समाचार