मुख्यपृष्ठसमाचारजयराम का जेपी को पत्र : माफी मांगें भाजपा नेता!

जयराम का जेपी को पत्र : माफी मांगें भाजपा नेता!

  • राहुल गांधी ने वायनाड की हिंसा पर की थी टिप्पणी
  • चैनल की खबर को गलत तरीके से साझा किया गया

सामना संवाददाता / नई दिल्ली
कांग्रेस नेता व मीडिया प्रभारी जयराम नरेश भाजपा नेताओं पर खफा हो गए। उन्होंने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखकर नेताओं से माफी मांगने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी द्वारा चैनल पर वायनाड हिंसा पर की गई टिप्पणी को भाजपा के नेता गलत तरीके से सोशल मीडिया पर साझा कर रहे हैं। यदि भाजपा नेता माफी नहीं मांगेंगे तो उन पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। मीडिया प्रभारी ने कहा कि राहुल गांधी के वास्तविक वीडियो में वे उनके वायनाड कार्यालय पर एसएफआई द्वारा की गई हिंसा के संबंध में टिप्पणी कर रहे थे। एक चैनल द्वारा उसे जान-बूझकर और शरारतपूर्ण ढंग से काट-छांट करके इस प्रकार से प्रस्तुत किया गया जैसे कि यह टिप्पणी उदयपुर में कन्हैया लाल की जघन्य हत्या के संबंध में थी। कांग्रेस नेता ने पत्र में कहा कि वास्तव में किसी भी अन्य चैनल ने इस क्लिप को इस प्रकार जान-बूझकर मनगढ़ंत और विकृत तरीके से प्रस्तुत नहीं किया। उन्होंने कहा, ‘इससे भी बड़ी चिंता की बात यह है कि आपकी पार्टी के सांसद राज्यवर्धन राठौर, सांसद सुब्रत पाठक, विधायक कमलेश सैनी और अन्य नेताओं ने उत्साहपूर्वक और बिना सत्यापन किए जान-बूझकर मनगढ़ंत और विकृत रिपोर्ट को साझा किया है।’ उन्होंने कहा कि मेरी पार्टी के सहयोगियों द्वारा यह चेतावनी दिए जाने के बावजूद कि उक्त क्लिप दुर्भावनापूर्ण रूप से झूठी और भ्रामक है, राठौर ने इसे प्रचारित करना जारी रखा, पहले इसे हटा दिया और फिर इसे दोबारा अपलोड कर दिया। इसमें कोई संदेह नहीं रह जाता है कि उनके द्वारा जान-बूझकर किए गए इन कार्यों का उद्देश्य पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष को बदनाम करना, कांग्रेस पार्टी को बदनाम करना और पहले से ही संवेदनशील बनी हुई सांप्रदायिक स्थिति का ध्रुवीकरण करना था, जो कि आपकी पार्टी की रणनीति का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि हमने पहले ही मूल प्रसारणकर्ता चैनल के खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी है। हम आशा करते हैं कि आप और आपकी पार्टी के सहयोगी इस तरह के झूठ को फैलाना बंद करेंगे और ऐसी हरकतों से बाज आएंगे। जयराम रमेश ने कहा कि मुझे आशा है कि आप अपने उन सहयोगियों की ओर से तुरंत उचित माफीनामा जारी करेंगे, जिन्होंने सच्चाई का इस तरह से घोर अपमान किया है। अगर यह माफीनामा आज जारी नहीं किया जाता तो हम आपकी पार्टी और उसके उन नेताओं के खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई करेंगे, जो इस तरह के गैर-जिम्मेदार और आपराधिक तरीके से सोशल मीडिया का दुरुपयोग करने पर जोर देते हैं।

अन्य समाचार