मुख्यपृष्ठनए समाचारस्वतंत्रता दिवस पर यूपी को दहलाना चाहता था जैश! पाकिस्तानी आतंकी वलीद...

स्वतंत्रता दिवस पर यूपी को दहलाना चाहता था जैश! पाकिस्तानी आतंकी वलीद ने भेजा था संदेश, एटीएस ने दो आतंकियों को धर दबोचा

मनोज श्रीवास्तव / लखनऊ
आज देश के ७६वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद यूपी को दहलाना चाहता था, पर समय से पहले उसका प्लान लीक हो गया। एटीएस ने इस सिलसिले में दो आतंकियों को दबोचा है। पाकिस्तानी आतंकी वलीद ने इस बड़े हमले का प्लान बनाया था। उसने यूपी में आतंकी हमला करने के लिए मुरादाबाद निवासी अहमद रजा को संदेश भेजा था। वलीद के इशारे पर अहमद रजा और उसके साथी हथियारों और गोला-बारूद का इंतजाम कर रहे थे।
मिली जानकारी के अनुसार, अहमद ने इस हमले के लिए यूएस निर्मित ऑटोमेटिक पिस्टल खरीद ली थी। इस बीच सुरक्षा एजेंसियों को उनके मंसूबे की भनक लग गई, जिसके बाद एटीएस ने अहमद रजा और कश्मीर निवासी फिरदौस को दबोच लिया। अब एनआईए की मदद से एटीएस कश्मीर के अनंतनाग में जैश और हिजबुल के नेटवर्क को खंगालने में जुटी है। वलीद के अहमद रजा जैसे तमाम युवाओं के संपर्क में होने का खुलासा होने के बाद एनआईए की मदद से उसे दबोचने की कवायद तेज कर दी गई है। एटीएस की गिरफ्त में आया हिजबुल आतंकी फिरदौस भी इसी नेटवर्क का हिस्सा है। दरअसल, बीते कई सालों से जैश और हिजबुल मिलकर हिंदुस्थान में सुरक्षा बलों के ठिकानों पर आतंकी हमले करने की योजना बना रहे हैं।
गुमराह कर रहा है फिरदौस
गिरफ्तार आतंकी फिरदौस जांच में सहयोग नहीं कर रहा है। वह रिमांड पर पूछताछ के दौरान अधिकारियों को लगातार गुमराह कर रहा है। एटीएस के अलावा एनआईए के अधिकारी भी उससे आतंकी संगठनों के मकसद का पता लगाने में जुटे हैं। जांच में अहमद रजा और फिरदौस का पश्चिमी यूपी के कई अन्य युवाओं के साथ संपर्क होने का प्रमाण मिलने पर एजेंसियों की मुश्किल बढ़ गई है। स्वतंत्रता दिवस पर आतंकी हमले की साजिश के मद्देनजर उनकी तेजी से तलाश की जा रही है। सुरक्षा एजेंसियों और खुफिया एजेंसियों को भरोसा है कि इस नेटवर्क से जुड़े अन्य लोग भी जल्द ही उनके शिकंजे में होंगे।

अन्य समाचार