मुख्यपृष्ठस्तंभझांकी : बड़े बेआबरू होकर....

झांकी : बड़े बेआबरू होकर….

अजय भट्टाचार्य। मुकेश सहनी की कल मंगलवार को हुई प्रेस कॉन्प्रâेंस का लब्बोलुआब यह है कि ‘बहुत बेआबरू होकर तेरे कुनबे से हम निकले।’ राजग से हटाए जाने के बाद सहनी बोले कि मुझे प्रताड़ित किया गया, बेइज्जत कर राजग से निकाला गया। पिछले १६ महीने में अपने समाज की भलाई के लिए डेढ़ सौ पत्र लिखा है। वे इन सभी कामों को मंत्री रहे न रहे, पूरा करवाएंगे। उन्होंने कहा कि कभी भी उनकी पार्टी की भाजपा में विलय की कोई बात नहीं हुई थी। भाजपा के नेता उन पर झूठे आरोप लगा रहे हैं। जो कभी उन्हें राम की नैया पार लगानेवाले केवट कहते थे, आज बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। मैं अपने समाज के लिए कभी भी समझौता नहीं करूंगा। उनका यह संघर्ष जारी रहेगा। सहनी ने भाजपा नेताओं को खुली चुनौती दी है कि वह जहां चाहे उनके साथ बहस कर लें, वे इनके ११ आरोपों का जवाब देने के लिए तैयार हैं।
गैस के खिलाफ चूल्हे दहके
रसोई गैस की कीमतों में बढ़ोतरी के खिलाफ लकड़ी के चूल्हे धधक रहे हैं। बंगाल में चुंचुड़ा सीट से तृणमूल विधायक असित मजूमदार ने चुंचुड़ा अखान बाजार गैस एजेंसी के कार्यालय के सामने लकड़ी के चूल्हे पर खाना बनाकर गैस के दामों में हुई वृद्धि पर विरोध जताया। गैस के दामों में पिछले नवंबर महीनों से कोई वृद्धि नहीं हुई थी। इस महीने में गैस के दामों में ५० रुपए की वृद्धि हुई है। रूस और युक्रेन में युद्ध जारी है। तेलों के दामों में आए दिन वृद्धि हो रही है। इस महंगाई की मार आम लोगों पर पड़ रही है। लोग आपा खो चुके हैं। विधायक ने बताया कि पांच राज्यों की चुनाव प्रक्रिया समाप्त होते ही केंद्र सरकार पेट्रोलियम पदार्थों के दामों में बढ़ोतरी किए जा रही है। केंद्र सरकार पेट्रोल और गैस की कीमतें बढ़ा रही है और पश्चिम बंगाल के लिए सरकारी आवंटन कम कर रही है।
बीजद का जलवा
ओडिशा में शहरी निकाय चुनावों में बीजू जनता दल ने शानदार प्रदर्शन किया है। बीजद ने १०८ शहरी स्थानीय निकायों में से ९५ निकायों में जीत हासिल की है। जबकि भाजपा को ६ में, ४ में कांग्रेस और निर्दलीयों को तीन निकायों में जीत मिली है। बीजद ने पहली बार करीब ९० प्रतिशत नगर निकायों में जीत दर्ज की है। भाजपा को ५.५ प्रतिशत, कांग्रेस को ३.५ प्रतिशत और निर्दलीय को करीब ३ प्रतिशत में जीत हासिल हो सकी। ओडिशा पंचायत चुनाव के बाद नगर निकाय चुनाव में भी बीजद का दबदबा कायम रहा। बीजद ने ३ नगर निगमों भुवनेश्वर, कटक और बरहमपुर में भी भारी जीत दर्ज की है। नगर निगमों में जीती तीन बीजद मेयरों में से भुवनेश्वर और बरहमपुर में दो महिला मेयर चुनी गई हैं। इस चुनाव में ६,४११ उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे, उनमें ५६९ अध्यक्ष / महापौर पद के लिए, जबकि ५,८४२ पार्षद / कॉरपोरेट सीटों के लिए जोर-आजमाइश कर रहे थे।
मुस्लिम ने लगाया महा घंटा
कोविड काल में अस्पतालों को ऑटोमेटिक सेनिटाइजर मशीन और मंदिरों में जनरेटर और सेंसरवाली घंटियां नि:शुल्क भेंट कर चुके मंदसौर के नाहरु खान फिर चर्चा में हैं। नाहरु खान ने ३७ क्विंटल के महाघंटे को पशुपतिनाथ मंदिर के परिसर में स्थापित किया है। मंदसौर के पशुपतिनाथ महादेव मंदिर पर लगाए गए ३७ क्विंटल वजनी महाघंटे को बनाने के लिए घर-घर जाकर पुराने पीतल और तांबे के बर्तन इकट्ठे किए गए थे। इन बर्तनों से अमदाबाद की एक कंपनी ने घंटे को तैयार किया। जितनी बड़ी पशुपतिनाथ की प्रतिमा है उतना ही विशाल यह घंटा लगाया गया है। मंदसौर के पशुपतिनाथ महादेव की प्रतिमा लगभग ४७ क्विंटल वजनी,११ फीट गोलाई और सात फीट ऊंची है। घंटा लंबे समय से परिसर में सिर्फ लोगों के दर्शन के लिए रखा गया था लेकिन नाहरू खान ने बिना कोई शुल्क लिए इसे मंदिर परिसर में स्थापित किया। अब इस घंटे की गूंज दूर-दूर तक सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल बनकर गूंजेगी।

लेखक वरिष्ठ पत्रकार हैं और देश की कई प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं में इनके स्तंभ प्रकाशित होते हैं।

अन्य समाचार