मुख्यपृष्ठनए समाचारखस्ताहाल है जे.जे. महानगर,ब्लड बैंक!ब्लड बैंक की समस्याओं पर ध्यान नहीं दे...

खस्ताहाल है जे.जे. महानगर,ब्लड बैंक!ब्लड बैंक की समस्याओं पर ध्यान नहीं दे रहे अधिकारी

सामना संवाददाता / मुंबई
स्टेट ब्लड ट्रांसफ्यूजन काउंसिल के उचित प्रबंधन के चलते हिंदुस्थान में पिछले कई सालों से स्वैच्छिक रक्तदान के मामले में महाराष्ट्र पहले स्थान पर काबिज है। हालांकि, एसबीटीसी में कोई पूर्णकालिक सहायक निदेशक न होने से इस काम में अवरोध उत्पन्न हो रहा है। इन सबके बीच स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ डॉक्टरों का कहना है कि कर्मचारियों के पदों को भरने और उन्हें मजबूत करने की जरूरत है। इसी तरह जे.जे. ब्लड बैंक के डॉक्टर भी आरोप लगा रहे हैं कि अधिकारियों को इस ब्लड बैंक की समस्याओं पर गौर करने के लिए फुर्सत नहीं मिल रही है, जबकि यहां ब्लड कलेक्शन से लेकर ब्लड स्टोरेज और आइसोलेशन तक कई उपकरणों की जरूरत है। इसी तरह कर्मचारियों का भी कहना है कि यदि समय पर ब्लड बैंक के लिए आवश्यक उपकरण और अन्य उपकरण उपलब्ध नहीं कराए गए तो भविष्य में सुरक्षित रक्त आपूर्ति की समस्या उत्पन्न हो सकती है। उल्लेखनीय है कि जे.जे. महानगर ब्लड बैंक की रक्त संग्रह क्षमता करीब ४५ हजार थैलियों की है। पिछले कुछ वर्षों से यहां के कर्मचारियों के माध्यम से सालाना ३०,००० रक्त की थैलियां एकत्र किया जा रहा है।

अन्य समाचार