मुख्यपृष्ठसमाचारकर्म प्रधान, पटरियों पर चला जवान.... मोबाइल की तलाश ने आधीरात को...

कर्म प्रधान, पटरियों पर चला जवान…. मोबाइल की तलाश ने आधीरात को पांच किमी तय की दूरी

गोपाल गुप्ता / वसई । कर्म को पूजा मानकर काम करने वाले एक आरपीएफ जवान की चर्चा जिले में जोरो से चल रही है। जवान एक यात्री के मोबाइल की तलाश में रात के अंधेरे में करीब पांच किलोमीटर रेल पटरियों पर पैदल चला। आखिरकार जवान की मेहनत रंग लाई और लाखों रुपए कीमती मोबाइल को खोज निकाला। यह घटना पालघर जिले के सफाले स्टेशन पर घटित हुई थी। रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के जवान रामधन मीणा की पोस्टिंग सफाले रेलवे स्टेशन पर है। कुर्ला में रहनेवाले मोहम्मद सिराज कुरैशी एक विवाह समारोह में शामिल होने के लिए फरीदाबाद गए हुए थे।
बच्चों की मस्ती से गिरा मोबाइल
शादी संपन्न होने के बाद देहरादून एक्सप्रेस से वापस मुंबई आ रहे थे। कुरैशी ने ६ अप्रैल की रात अपने आईफोन मोबाइल को खिड़की के पास चार्जिंग के लिए लगाया था, तभी ट्रेन में सफर कर रहे बच्चों की मस्ती से उनका मोबाइल करीब पौने दस बजे खिड़की से बाहर गिर गया। ट्रेन फास्ट होने के कारण सीधे विरार रुकी। पीड़ित विरार से दूसरी ट्रेन पकड़कर सफाले स्टेशन पहुंच गए और कुछ दूरी तक फोन की तलाश की, परंतु उन्हें मोबाइल नही मिला। देर रात की वजह से मुंबई की तरफ आनेवाली सभी ट्रेनें बंद हो गई थीं। तभी स्टेशन पर गश्त करते हुए आरपीएफ जवान की नजर कुरैशी पर पड़ी। जवान को पीड़ित ने अपनी आपबीती बताई।
गैंगमैन से बना है कांस्टेबल
आरपीएफ जवान ने आधीरात को युवक का मोबाइल फोन खोजने का निर्णय लिया और रेल पटरियों पर चल पड़ा। इस दौरान जवान उनके मोबाइल पर नियमित फोन करता रहा। करीब पांच किमी दूरी तय करने के दौरान एक प्रकाश दिखाई दिया। जवान उक्त रोशनी की तरफ आगे बढ़ा और लाखों रुपए कीमती मोबाइल फोन को खोज निकाला। जवान मोबाइल फोन को लेकर स्टेशन मास्टर के पास पहुंच गया। मास्टर ने कुरैशी के मोबाइल फोन होने की पुष्टि करने के बाद उसे सौंप दिया। कुरैशी ने इस मोबाइल को किस्तों में लिया था। आरपीएफ जवान मीणा २०१५ में आरपीएफ में भर्ती हुए थे। इससे पहले २०१२ में डब्ल्यूआर में एक गैंगमैन के रूप में काम कर रहे थे। इस दौरान वे कांस्टेबल पद के लिए आरपीएफ परीक्षा पास कर भर्ती हो गए। जवान के इस कार्य के लिए आरपीएफ डीजी उनके अनुकरणीय कार्य के लिए प्रशंसा प्रमाण पत्र और नकद पुरस्कार जारी करेंगे।

अन्य समाचार