मुख्यपृष्ठनए समाचारगूगल सर्च में कश्मीर ने स्विट्जरलैंड को पछाड़ा: कश्मीरियों के पांव जमीं...

गूगल सर्च में कश्मीर ने स्विट्जरलैंड को पछाड़ा: कश्मीरियों के पांव जमीं पर नहीं पड़ रहे

सामना संवाददाता / सुरेश एस डुग्गर
जम्मू। कश्मीरियों के पांव इस खबर के बाद जमीं पर नहीं पड़ रहे हैं कि गूगल डेटा के अनुसार, २०२३ में वैश्विक स्तर पर सबसे अधिक गूगल सर्च किए जाने वाले गंतव्य के रूप में कश्मीर ने स्विट्जरलैंड को पीछे छोड़ दिया है। सच में यह खुशी देने वाली खबर है कि कश्मीर २०२३ में दुनिया भर में शीर्ष १० सबसे अधिक खोजे गए गंतव्यों में से एक है।
पिछले साल वैश्विक स्तर पर सबसे अधिक सर्च किए गए गंतव्यों की सूची में, कश्मीर थाईलैंड के ठीक बाद छठे नंबर पर था, जिसे कश्मीर की तुलना में अधिक खोजें मिलीं। स्विट्जरलैंड दुनिया भर में यात्रियों और उत्साही लोगों के बीच एक बारहमासी पसंदीदा स्थल बना हुआ है। ऑनलाइन खोज व्यवहार में यह बदलाव कश्मीर घाटी का पता लगाने के लिए विश्व भ्रमणकर्ताओं की जिज्ञासा को रेखांकित करता है, जिसकी तुलना अक्सर स्विट्जरलैंड से की जाती है। जानकारी के लिए वर्ष २०२३ की सबसे अधिक गूगल किए गए गंतव्यों की रैंकिंग में, वियतनाम शीर्ष स्थान पर रहा, उसके बाद गोवा दूसरे स्थान पर रहा।
वर्ष २०२३ में दुनिया भर में सबसे अधिक गूगल किए गए गंतव्यों की सूची में बाली और श्रीलंका ने क्रमश: तीसरा और चौथा स्थान हासिल किया। थाईलैंड ने पांचवें स्थान पर दावा किया, इसके बाद कश्मीर घाटी छठे स्थान पर रही।

जबकि कूर्ग ने पिछले साल सबसे अधिक गूगल किए गए गंतव्य के रूप में सातवीं रैंक हासिल की, उसके बाद अंडमान और निकोबार द्वीप समूह थे। इटली और स्विट्जरलैंड ने २०२३ में वैश्विक स्तर पर सबसे अधिक गूगल किए गए गंतव्यों की सूची में नौवें और १०वें स्थान पर थे
यह सच है कि कश्मीर में पर्यटन में तेजी आई है, यात्री इस क्षेत्र की प्राकृतिक सुंदरता और ऐतिहासिक महत्व के अनूठे मिश्रण की ओर तेजी से आकर्षित हो रहे हैं। गूगल पर कश्मीर की खोज में लोगों की अनूठी रुचि को देखते हुए, कश्मीर में पिछले साल पर्यटकों के प्रवाह में उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई। दावानुसार, इस वर्ष दो करोड़ से अधिक पर्यटकों ने घाटी का दौरा किया, साथ ही विदेशी पर्यटकों की संख्या में भी वृद्धि देखी गई।

ट्रैवल एजेंटों का दावा है कि इस साल विदेशी पर्यटन के पुनरुद्धार से कश्मीर को वैश्विक स्तर पर बढ़ावा मिलेगा। एक ट्रैवल एजेंट उमर अहमद के बकौल, इस साल, हमने थाईलैंड, यूरोप और खाड़ी देशों से बड़ी संख्या में विदेशी पर्यटकों को कश्मीर आते देखा। चूंकि सर्दियां ज्यादातर पर्यटकों को आकर्षित करती हैं, हमें उम्मीद है कि जनवरी, फरवरी और मार्च में विदेशी पर्यटकों के आगमन में और बढ़ोतरी देखने को मिलेगी।

अन्य समाचार