मुख्यपृष्ठखेलखेल-खिलाड़ी: सदमे से बाहर निकालने में सफल सूर्या की टीम!

खेल-खिलाड़ी: सदमे से बाहर निकालने में सफल सूर्या की टीम!

संजय कुमार

ताज्जुब हो रहा है कि सूर्यकुमार यादव की ऐसी ही बल्लेबाजी, जो वर्तमान में वे ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जारी ५ मैचों की टी-२० सीरीज में कर रहे हैं, विश्वकप क्रिकेट के फाइनल में देखने को क्यों नहीं मिली। आज भी क्रिकेट फैंस यही जानना चाह रहे हैं कि क्या उन्हें संभलकर खेलने का कोई निर्देश था, जो वह अपना स्वाभाविक खेल नहीं खेल पाए। विश्वकप के फाइनल से पहले खेले गए सभी मैचों में आक्रामक रही टीम इंडिया फाइनल में कुछ विकेट गंवाने के बाद अचानक रक्षात्मक क्यों हो गई। खैर, सूर्यकुमार की टी-२० सीरीज की टीम क्रिकेट के करोड़ों दीवानों को, विश्वकप के फाइनल में हुई हार के सदमे से बाहर निकालने में बहुत हद तक सफल हुई है। टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-२० सीरीज में ३-१ की निर्णायक बढ़त ले ली है।

सूर्यकुमार यादव, जो स्काई के नाम से भी काफी लोकप्रिय हैं, अब टीम इंडिया का नेतृत्व, दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी-२० के तहत खेली जानेवाली ३ मैचों की श्रृंखला में भी करेंगे। बीसीसीआई ने रोहित शर्मा और विराट कोहली के ‘व्हाइट बॉल’ क्रिकेट से ब्रेक लेने की इच्छा को स्वीकार कर लिया है। टीम इंडिया टी-२० सीरीज का पहला मैच दक्षिण अफ्रीका से १० दिसंबर को डरबन में खेलेगी। ७ जनवरी २०२४ तक चलने वाले दौरे के दौरान टी-२० के बाद ३ एकदिवसीय मैचों के साथ २ टेस्ट मैचों की श्रृंखला भी खेली जाएगी।

घरेलू क्रिकेट के बाद आईपीएल से राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अपनी पहचान बनाने वाले सूर्यकुमार गेंद पर बल्ले से जोरदार प्रहार करने के रूप में जाने जाते हैं। मैदान के चारोें तरफ शॉट खेलने में माहिर सूर्या पारंपरिक के साथ-साथ अपारंपरिक और आखिर समय में अपने शॉट में तब्दीली कर प्रतिद्वंद्वी टीम के खिलाड़ियों को प्राय: चौंकाते रहते हैं।
मुंबई में पले-बढ़े इस खिलाड़ी को आईपीएल में खेलने का मौका पहली बार २०१२ में ‘मुंबई इंडियंस’ ने दिया, फिर २०१४ में उन्हें ‘कोलकाता नाइट राइडर्स’ का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला। २०१५ के आईपीएल सीजन में तब वह अचानक प्रकाश में आए, जब उन्होंने ‘मुंबई इंडियंस’ के खिलाफ खेले गये मैच में ४६ रन मात्र २० गेंदों में बना डाले। इस मैच जिताऊ पारी में उन्होंने ५ छक्के लगाए। मुंबई के इस क्रिकेटर की वापसी ‘मुंबई इंडियंस’ टीम में एक बार फिर २०१८ में हुई। तब उन्हें ३.२ करोड़ में खरीदा गया। इसके बाद से उनकी कीमत बढ़ती गई। हालांकि, २०२२ के आईपीएल में वह चोटिल होने के कारण नहीं खेल पाए, मगर नीलामी से पहले ही उन्हें ८ करोड़ देकर ‘मुंबई इंडियंस’ की टीम में शामिल कर लिया गया था। इस वर्ष २०२३ के आईपीएल में सूर्या ने ‘मुंबई इंडियंस’ का प्रतिनिधित्व एक उपकप्तान के रूप में किया।

वर्षों से टीम इंडिया का प्रतिनिधित्व करने का सपना संजोए सूर्या को पहला अवसर फरवरी २०२१ में मिला, जब उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ खेली जानेवाली ५ मैचों की टी-२० श्रृंखला में चुना गया। इससे भी बढ़कर अपने वैâरियर में ऊंचाइयों पर तब पहुंचे, जब २०२३ के विश्वकप क्रिकेट प्रतियोगिता के लिए उन्हें भारटीय टीम में शामिल किया गया। अपनी जिस योग्यता के बल पर उन्होंने टीम इंडिया में जगह बनाई, काश वही प्रदर्शन वे विश्वकप के फाइनल में कर पाते। विश्व क्रिकेट के स्काई में सूर्य की तरह चमकने के आए बेहतरीन अवसर को सूर्या ने गंवा दिया, मगर अब उसकी भरपाई वे टी-२० के मैचों में अपनी शानदार बल्लेबाजी से कर रहे हैं।

अन्य समाचार

कविता