मुख्यपृष्ठनए समाचारविक्रांत के नाम पर किरीट ने लोगों को लूटा! ...रक्षा विभाग करे...

विक्रांत के नाम पर किरीट ने लोगों को लूटा! …रक्षा विभाग करे जांच, राकांपा की मांग

सामना संवाददाता / मुंबई । युद्धनौका आईएनएस विक्रांत का रूपांतरण संग्रहालय में करना है, इसके लिए लोगों से धन वसूलकर भाजपा नेता किरीट सोमैया ने लोगों को लूटा है। इस मामले की जांच रक्षा विभाग करे, ऐसी मांग राकांपा के प्रदेश प्रवक्ता महेश तपासे ने की है। उन्होंने प्रेस को जारी बयान में कहा है कि किरीट सोमैया और भाजपा पदाधिकारियों ने कहा था कि यह निधि राज्यपाल को सौंपी जाएगी और इस निधि का उपयोग विक्रांत को संग्रहालय में रूपांतरण करने के लिए किया जाएगा। लेकिन राजभवन के पत्र में यह स्पष्ट उल्लेख किया गया है कि विक्रांत के लिए वसूल की गई राशि राज भवन में जमा नहीं की गई है। इतना ही नहीं, किरीट सोमैया और अन्य भाजपा पदाधिकारियों ने भी आज तक जनता को यह नहीं बताया कि विक्रांत के लिए एकत्र किया गया धन गया कहां? ऐसा तपासे ने कहा।
विक्रांत युद्धपोत भारत सरकार के रक्षा विभाग के अंतर्गत आता है और अगर उसके नाम से लोगों से पैसा वसूल किया गया है तो संबंधित लोगों को देश के सामने हिसाब देना चाहिए। अगर हिसाब नहीं दिए हो तो रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को इस मामले की जांच करानी चाहिए, ताकि लोगों से जुटाए गए पैसे को रक्षा खाते में जमा किया जाए और भारतीय सैनिकों के कल्याण में इस निधि का इस्तेमाल किया जा सके। आम लोगों से जमा किया गया पैसा किसकी जेब में गया? ऐसा सवाल तपासे ने किया। देश और राज्य में पेट्रोल और डीजल के दाम सोलह दिनों में चौदह बार बढ़े हैं, जिसके कारण महंगाई से जनता त्रस्त हो गई है। देश की जनता गरीब रहे तो चलेगा लेकिन भाजपा अमीर हो रही है, ऐसा आरोप राकांपा प्रदेश प्रवक्ता महेश तपासे ने लगाया।

अन्य समाचार