मुख्यपृष्ठसमाचारघुटने की सर्जरी :  एक ही दिन में चलने लगा रोगी! नहीं...

घुटने की सर्जरी :  एक ही दिन में चलने लगा रोगी! नहीं करनी पड़ी चीर-फाड़

सामना संवाददाता / मुंबई
मुंबई में ६९ वर्षीय डॉक्टर के दोनों पैरों के घुटने की सर्जरी बिना किसी चीर-फाड़ के हुई। सबवास्टस सर्जिकल तकनीक से हुई इस सर्जरी के बाद मरीज एक ही दिन में चलने लगा, साथ ही फिजियोथेरेपी की भी ज्यादा जरूरत नहीं पड़ी। पेशे से हड्डी रोग सर्जन ६९ वर्षीय डॉ. गोविंद गुप्ता सर एचएन रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल में दोनों घुटने की रिप्लेसमेंट सर्जरी के लिए भर्ती हुए थे। इसके बाद अस्पताल के डॉक्टरों की टीम ने मरीज की सबवास्टस सर्जिकल तकनीक के इस्तेमाल से मांसपेशियों को काटे बिना ही घुटने की सर्जरी की। इस सर्जरी के बाद पहले ही दिन मरीज चलते-फिरने लगा, साथ ही जल्दी अस्पताल से छुट्टी भी दे दी गई।
इस तरह हुई सर्जरी
टीम का नेतृत्व करनेवाले डॉ. नीलेन शाह कहा कि इस सर्जरी में एक सटीक बहुआयामी दृष्टिकोण का विकल्प चुना, जिसमें निर्बाध न्यूनतम इनवेसिव प्रक्रिया शामिल थी। इसके परिणामस्वरूप सर्जरी के समय न्यूनतम ऊतक की हानि और आधुनिक दर्द प्रबंधन चिकित्सा शामिल थी। सर्जरी की प्रक्रिया ने मरीज के लिए फिजियोथेरेपी की आवश्यकता को कम कर दिया। साथ ही गतिविधियों को आवश्यक समय से बहुत पहले सामान्य कर दिया।

अन्य समाचार