मुख्यपृष्ठनए समाचारकोश्यारी ने सभी मर्यादाएं पार की!... शरद पवार की तीव्र नाराजगी

कोश्यारी ने सभी मर्यादाएं पार की!… शरद पवार की तीव्र नाराजगी

सामना संवाददाता / मुंबई
राज्यपाल एक संस्था है। इस संस्था की प्रतिष्ठा बनाए रखने के लिए अभी तक उन्हें किसी ने बोला नहीं है। पर छत्रपति शिवाजी महाराज के बारे में उल्लेख करके राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने मर्यादाओं का उल्लंघन किया है। इन शब्दों में राकांपा प्रमुख शरद पवार ने तीव्र नाराजगी व्यक्त की है।
छत्रपति शिवाजी महाराज के बारे में गलत बयान के बाद कल उनकी प्रशंसावाला बयान आया है लेकिन यह देर से आई होशियारी है। इसलिए राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री को ऐसे व्यक्ति को योग्य जिम्मेदारी नहीं देनी चाहिए, ऐसा शरद पवार ने स्पष्ट रूप से कहा। छत्रपति शिवाजी महाराज के खिलाफ गलत बयान देने से समाज में गलतफहमी बढ़े, राज्यपाल इस मिशन पर हैं क्या? महात्मा फुले, सावित्रीबाई फुले और छत्रपति शिवाजी महाराज के बारे में बताई गई सारी बातों का उल्लेख करते समय संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति को एक जिम्मेदार भूमिका निभानी चाहिए। आज एक व्यक्ति जिसे याद भी नहीं रहता है, उसे महाराष्ट्र भेजा जाता है। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बोम्मई ने एक बार फिर ४० सीमावर्ती गांवों को कर्नाटक में शामिल करने की बात कहकर विवाद पैदा कर दिया है। इस पर पवार ने कहा कि बोम्मई ने महाराष्ट्र के कुछ गांवों पर दावा किया है, लेकिन हम पिछले कई वर्षों से बेलगांव, कारवार, निपाणी सहित अन्य गांव मांग रहे हैं, जो सच में हमारे हैं।

अन्य समाचार