मुख्यपृष्ठसमाचारकाशी में लाखों श्रद्धालुओं ने गंगा में लगाई डुबकी... भक्तों का उमड़ा...

काशी में लाखों श्रद्धालुओं ने गंगा में लगाई डुबकी… भक्तों का उमड़ा रेला

उमेश गुप्ता / वाराणसी

मौनी अमावस्या पर गंगा स्नान के लिए घाटों पर आस्था का सैलाब उमड़ा। तीन लाख से अधिक लोगों ने गंगा घाट पर आस्था की डुबकी लगाई। इस दौरान मौन रहकर लोगों ने गंगा स्नान किया, वहीं घाट पर पुरोहित व पंडों को दान देकर पुण्य के भागी बने। माना जाता है कि मौनी अमावस्या पर गंगा स्नान का विशेष लाभ मिलता है। इस दौरान प्रशासन अलर्ट रहा।
गंगा स्नान के लिए श्रद्धालु भोर से ही घाटों पर पहुंचने लगे थे। राजघाट से लेकर सामने घाट तक श्रद्धालुओं की भीड़ रही। लोगों ने मौन धारण कर गंगा स्नान किया। वहीं पंडों व पुरोहितों को दान देकर सुख-समृद्धि की कामना की। इस दौरान घाटों पर मेला जैसी स्थिति रही। घाट पुरोहित के अनुसार, मौनी अमावस्या के दिन जो योग मिला है, वैसा योग 65 साल पहले मिला था। महिलाएं, पुरुष मौन व्रत धारण कर गंगा स्नान करते हैं। इसका विशेष लाभ मिलता है। गंगा स्नान व प्रभु के दर्शन से कोटि-कोटि पापों का नष्ट होता है। श्रद्धालुओं की भारी भीड़ को देखते हुए प्रशासन पूरी तरह से चौकस रहा। सभी घाटों व चौराहों पर रात 3 बजे से ही महिला पुलिस, एनडीआरएफ व जल पुलिस के जवानों की ड्यूटी लगाई गई थी। इसके अलावा गोदौलिया चौराहे पर वाहनों का आवागमन प्रतिबंधित रहा।
श्रद्धालुओं की भारी भीड़ को देखते हुए सामाजिक संगठन के लिए जगह-जगह सहायता शिविर के साथ भंडारा आदि की भी व्यवस्था किए हुए थे। इसी क्रम में श्री श्याम मंडल ट्रस्ट द्वारा गोंदौलिया चौराहे के पास भंडारे का आयोजन किया गया, जिसमें काशी में आए शिव भक्तों को पूड़ी-सब्जी व जलेबी का प्रसाद वितरित किया गया। यह कार्यक्रम भोर से शुरू होकर दोपहर 2 बजे तक चला।

अन्य समाचार