मुख्यपृष्ठखेलसलाखों के पीछे लामिछाने

सलाखों के पीछे लामिछाने

नेपाल क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान संदीप लामिछाने को दुष्कर्म के आरोप में वहां की एक अदालत ने दोषी ठहराया था, जिसके बाद १० जनवरी को उन्हें ८ साल की सजा सुनाई गई। संदीप पर एक नाबालिग लड़की ने दुष्कर्म का आरोप लगाया था। संदीप की गिनती नेपाल क्रिकेट के सबसे प्रमुख खिलाड़ियों में की जाती है। वो इंडियन प्रीमियर लीग में भी अपने देश से खेलने वाले पहले खिलाड़ी बने थे, जिसमें वो दिल्ली कैपिटल्स टीम का हिस्सा थे। संदीप पर आए अदालत के फैसले के बाद अब नेपाल क्रिकेट ने भी उन पर बड़ा एक्शन लिया है। संदीप लामिछाने को ८ साल की सजा होने के बाद नेपाल क्रिकेट ने भी उन्हें खेल से जुड़ी किसी भी गतिविधी से सस्पेंड करने का फैसला सुनाया है। क्रिकेट एसोसिएशन नेपाल ने इस पूरे मामले पर अपना बयान जारी किया है। बयान में कहा गया है कि लामिछाने को घरेलू और इंटरनेशनल स्तर पर होने वाली क्रिकेट की किसी भी तरह की गतिविधी से निलंबित करने का फैसला लिया गया है। दुष्कर्म के आरोप में नेपाल की अदालत ने संदीप को सजा सुनाए जाने के साथ ३ लाख नेपाली रुपए का जुर्माना भी लगाया है। इसमें से २ लाख रुपए इस मामले में पीड़िता को मुआवजा के तौर पर दिए जाएंगे।

अन्य समाचार