मुख्यपृष्ठअपराधलश्कर-ए-तोयबा का आतंकी निकला भाजपा का आईटी सेलप्रमुख!

लश्कर-ए-तोयबा का आतंकी निकला भाजपा का आईटी सेलप्रमुख!

सामना संवाददाता / नई दिल्ली

जम्मू-कश्मीर में कल रियासी जिले के तुकसान से लश्कर-ए-तोयबा के दो आतंकियों को गिरफ्तार किया गया है। इस गिरफ्तारी में कई चौंकानेवाले खुलासे हुए हैं। जानकारी के मुताबिक गिरफ्तार किए गए आतंकवादियों में से एक आतंकी की पहचान तालिब हुसैन के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि उसने कथित तौर पर बीजेपी में घुसपैठ की थी और उसे जम्मू प्रांत के अल्पसंख्यक मोर्चा के आईटी और सोशल मीडिया सेल का प्रभारी भी बनाया गया था। इसके बाद से ही भाजपा और कांग्रेस के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई है।
जानकारी के अनुसार गिरफ्तार किए गए आतंकियों के पास से बड़ी तादाद में हथियारों का जखीरा बरामद किया गया है। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कहा कि जम्मू-काश्मीर के रियासी में एक गांव के स्थानीय लोगों ने ‘कमांडर’ तालिब हुसैन सहित लश्कर-ए-तोयब के दो आतंकियों को पकड़ लिया और उन्हें पुलिस के हवाला कर दिया।
एडीजीपी जम्मू ने जानकारी देते हुए बताया कि आतंकियों के पास से दो एके राइफल, सात ग्रेनेड और एक पिस्टल बरामद की गई है। इसके साथ ही पुलिस ने जानकारी दी कि जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने रियासी के तुकसान गांव के ग्रामीणों को आतंकियों को पकड़वाने में मदद करने के लिए ५ लाख रुपए के इनाम देने की घोषणा की है। दोनों आतंकवादियों की गिरफ्तारी को एक बड़ी सफलता बताते हुए अधिकारी ने कहा कि वे रियासी के अलावा सीमावर्ती जिलों-राजौरी और पुंछ में फिर से आतंकवाद फैलाने का प्रयास कर रहे थे।
आतंकी का बीजेपी ‘कनेक्शन’!
पिछले दो दिनों के अंदर यह दूसरी घटना है जब यह आरोप लगाया गया है कि आतंकवाद के आरोपियों का भाजपा से संबंध है। उदयपुर में एक दर्जी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किए गए दो लोगों के भाजपा के साथ संबंध होने के कांग्रेस ने आरोप लगाए हैं। अत: ऐसे में यह सवाल उठ ख़ड़ा होता है कि भाजपा को पार्टी में आतंकवादियों के महत्वपूर्ण पदों पर मौजूदगी के बारे में राष्ट्र को जवाब देना चाहिए। यह एक बहुत ही गंभीर विषय है और राष्ट्र की सुरक्षा के लिए खतरा है।

अन्य समाचार