मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनासंपादक का नाम पत्र : मीरा-भायंदर को प्रदूषणमुक्त बनाएं

संपादक का नाम पत्र : मीरा-भायंदर को प्रदूषणमुक्त बनाएं

`दोपहर का सामना’ के माध्यम से मैं मीरा-भायंदर महानगरपालिका के आयुक्त दिलीप ढोले और परिवहन उपायुक्त का ध्यान मनपा के परिवहन सेवा में चलनेवाली बसों द्वारा होनेवाले प्रदूषण की तरफ आकर्षित करना चाहता हूं। महोदय, शहरों की प्रदूषित होती हवा को सुधारने के लिए सरकारें ज्यादा से ज्यादा इलेक्ट्रिक व सीएनजी गाड़ियां चलाने पर जोर दे रही हैं। इसके विपरीत मीरा-भायंदर मनपा परिवहन (एमबीएमटी) जहरीली हवा को और जहरीला बना रही है। कारण उसकी अधिकांश बसें काला धुआं उगल रही हैं। इस तरफ ध्यान दिलाने के बावजूद इसे रोकने की कोशिश प्रशासन की ओर से अब तक नहीं की गई। मीरा-भायंदर मनपा परिवहन सेवा ठेके पर चलाई जा रही है। ठेकेदार भले नया है लेकिन बसें पुरानी हैं और पुराने ठेकेदार से टेकओवर की गई हैं। इनमें से अधिकांश बसें काला धुआं छोड़ रही हैं। कई बसें तो इतना ज्यादा काला धुआं छोड़ती हैं कि पीछे से आने वाले बाइक सवारों के कपड़े काले हो जाते हैं। अत: आपसे नम्र निवेदन है कि ऐसी बसें जो ज्यादा काला धुआं उत्सर्जित कर रही हैं, उन्हें मनपा की परिवहन सेवा से हटा दें, जिससे शहर का पर्यावरण प्रदूषित होने पर अंकुश लग सके।
सुबोध मिश्रा, भायंदर

अन्य समाचार