मुख्यपृष्ठनए समाचारउत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त, दिनदहाड़े हत्याओं से नागरिक दहशत में-अखिलेश...

उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त, दिनदहाड़े हत्याओं से नागरिक दहशत में-अखिलेश यादव

मनोज श्रीवास्तव / लखनऊ

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार को घेरते हुए कहा कि यूपी में दिनदहाड़े हत्याएं हो रही हैं। कहीं कचहरी में चैम्बर के अंदर वकील की हत्या तो कहीं राजस्व अधिकारियों की मौजूदगी में हत्या, हापुड़ में न्याय के मंदिर में पुलिस ने बर्बरतापूर्ण लाठीचार्ज किया। जेपी की सरकार ने सिर्फ एक काम किया है कि गरीबों के घर मीटर लगा दिया, बिजली मिली कि नहीं बिना पता किए हजारों का बिजली का बिल भेज दिया। प्रदेश की कानून व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। आज बुधवार को गाजियाबाद में कचहरी के अंदर चैम्बर में बैठे वकील की हत्या कर बदमाश आराम से फरार हो गए। रक्षाबंधन के दिन चार बहनों के एकलौते भाई की दिनदहाड़े हत्या से क्या संदेश जा रहा है। रामपुर में प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में दिनदहाड़े गोलियों की तड़तड़ाहट में एक व्यक्ति की हत्या कर दी गयी। भाजपा राज में पुलिस बेलगाम हो गई है। यूपी में चारों ओर अराजकता व्याप्त हो चुका है। पुलिस ने हापुड़ के अदालत परिसर में वकीलों और महिलाओं को बर्बरता पूर्ण तरीके से पीटा है, उसकी जितनी निंदा की जाय कम होगी। महिला वकीलों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा गया। भाजपा को इसकी कीमत चुकानी होगी। समाजवादी पार्टी वकीलों के साथ कंधे से कंधा मिला कर लड़ेगी। वकीलों पर लाठीचार्ज की आग पूरे प्रदेश में फैल गयी है। हाईकोर्ट के वकीलों के अलावा जिले न्यायालय और वफ्फ बोर्ड के वकील भी कार्य बहिष्कार किए। विपक्ष के हमले से डरी यूपी सरकार ने बैकफुट पर आते हुए घटना के जांच के लिए कमेटी बना दिया है। मेरठ के कमिश्नर के नेतृत्व में बनी कमेटी एक सप्ताह में अपनी रिपोर्ट देगी। वहीं प्रदेश भर के वकील इस घटना के बाद आर-पार की लड़ाई के मूड में हैं।

अन्य समाचार