मुख्यपृष्ठनए समाचारयूपी में कानून का नेटवर्क ध्वस्त! ... योगीराज में पुलिस हुई हताश

यूपी में कानून का नेटवर्क ध्वस्त! … योगीराज में पुलिस हुई हताश

•  देवरिया नरसंहार मामले की समीक्षात्मक जांच के बाद सामने आया सच
•  आला अधिकारी हुए भौंचक्के
मनोज श्रीवास्तव / लखनऊ
देवरिया में एक ही दिन में छह लोगों की हत्या ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। सबसे ज्यादा जिस चीज की चर्चा है वो है पुलिस की कार्रवाई पर। पुलिस का ग्रामीण नेटवर्क (ग्रामीण चौकीदार) पूरी तरह से ध्वस्त है। ऐसे में इस तरह की घटनाओं के बाद योगीराज में पुलिस हताश नजर आ रही है। पुलिस विभाग की सूचनाओं की रीढ़ माने जाने वाले हर गांव में चौकीदार हैं। ऐसे में सवाल है कि पूर्व जिला पंचायत सदस्य की हत्या होने के बाद गांव का चौकीदार कहां था? अगर वह समय से पुलिस को सूचना दे देता तो इतनी बड़ी घटना नहीं होती।
पुलिस अधिकारियों की जांच में भी यह बात सामने आने लगी है।
पुलिस का नेटवर्क केवल सर्विलांस व सीसीटीवी वैâमरे बन कर रह गए हैं। नेटवर्क फेल होने का परिणाम ही लेहड़ा की घटना है। लोगों का कहना है कि जब प्रेम यादव की हत्या हुई और इसकी जानकारी पुलिस को हो जाती तो एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या नहीं होती। दरअसल, प्रेम की हत्या होने के ३५ मिनट बाद दूसरे पक्ष के लोगों ने दरवाजे पर चढ़कर हत्या की। खास बात यह है कि लेहड़ा से ढाई किलोमीटर दूरी पर पुलिस चौकी भी है। चौकी के पुलिसकर्मियों तक को इसकी भनक नहीं लगी। छह लोगों की हत्या के बाद इसकी खबर पुलिस को लगी। अब थाना स्तर पर जल्द ही पुलिसकर्मियों पर भी कार्रवाई की गाज गिरनी तय है।

नहीं हुई सुनवाई
सत्य प्रकाश दुबे की विवाहित बेटी शोभिता ने बताया कि सीएम पोर्टल पर तो न जाने कितनी बार शिकायत की। आए दिन धमकी देने की, टॉर्चर करने की, जिला प्रशासन से भी कई बार शिकायत की गई थी। ४ अक्टूबर को उसकी एसडीएम कोर्ट में पेशी थी। लेकिन उससे पहले ही मेरे परिवार को खत्म कर दिया गया। शोभिता ने सीएम योगी आदित्यनाथ से मांग की है कि दोषियों पर सख्त एक्शन लिया जाए। इस संदर्भ में डीएम देवरिया अखंड प्रताप सिंह ने दोपहर का सामना को बताया कि मुख्यमंत्री पोर्टल पर इनकी अंतिम शिकायत २८ फरवरी को आई थी। कुछ शिकायतों का निस्तारण किया जा रहा था, कुछ की जांच प्रक्रिया चल रही थी। हम इस बात की भी जांच कर रहे हैं कि यदि कहीं कोई शिथिलता हुई है तो कौन जिम्मेदार है? जिसकी भी लापरवाही सामने आएगी, उसके विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी।

अन्य समाचार