मुख्यपृष्ठटॉप समाचारइंडिया की बैठक में २८ पार्टियों के नेता शामिल, इंडियामय हुई मुंबई!

इंडिया की बैठक में २८ पार्टियों के नेता शामिल, इंडियामय हुई मुंबई!

प्रजातंत्र की रक्षा के लिए देश के दिग्गज हुए एकजुट
आज तय होगा तानाशाही के खिलाफ एक्शन प्लान

सामना संवाददाता / मुंबई
देश में तानाशाही को उखाड़ फेंकने के लिए, लोकतंत्र और संविधान की रक्षा के लिए २८ राजनीतिक दलों के ६३ दिग्गज नेता कल मुंबई में एकत्र हुए। पूरी मुंबई आज ‘इंडिया’ मय हो गई। कल अनौपचारिक बैठक व स्नेहभोजन के मौके पर विचार-विमर्श हुआ। आज होनेवाली मुख्य बैठक में गठबंधन का समान कार्यक्रम, समन्वय समिति की नियुक्ति, सीट बंटवारे का पांच सूत्र आदि मुद्दों पर महत्वपूर्ण चर्चा होगी। इस बैठक में २०२४ के लोकसभा चुनाव की रणनीति भी तय की जाएगी, जिस पर सभी का ध्यान लगा है। ‘इंडिया’ गठबंधन की तीसरी बैठक ‘ग्रैंड हयात होटल’ में कल से शुरू हुई। इसके साथ ही इसमें तानाशाही प्रवृत्ति को कुचलकर सभी को न्याय देनेवाली सरकार देश में लाने के लिए बड़ा एक्शन प्लान बनाए जाने की योजना है। इस बैठक के चलते भारतीय जनता पार्टी पूरी तरह से घबरा गई है।
भाजपा के नेतृत्व वाले ‘राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन’ (एनडीए) को एक मजबूत विकल्प प्रदान करने और मतों के विभाजन को टालने के लिए विपक्षी दलों द्वारा गठित ‘इंडिया’ गठबंधन की पटना और बंगलुरु के बाद अब तीसरी बैठक मुंबई स्थित ‘ग्रैंड हयात’ होटल में हो रही है। इस बैठक के लिए देश की प्रमुख विपक्षी पार्टियों के सभी प्रमुख नेता मुंबई पहुंच चुके हैं। कुछ नेता देर रात तक मुंबई आए। एयरपोर्ट पर उतरने से लेकर ग्रैंड हयात तक इन नेताओं का मराठी परंपरा से स्वागत किया गया। इस बैठक में २८ पार्टियां हिस्सा ले रही हैं। पहली दो बैठकों में शुरुआती चर्चा के बाद अब इस बैठक में कुछ अहम मुद्दों पर निर्णय लिया जाएगा। कुछ फैसलों के लिए समितियां नियुक्त की जाएंगी। आज १ सितंबर को यह बैठक सुबह १०.३० बजे से दोपहर २ बजे तक होगी। इसके बाद ३.३० बजे संयुक्त प्रेस कॉन्प्रâेंस होगी। वहीं केवल मीडिया में ही नहीं, बल्कि संपूर्ण मुंबई-महाराष्ट्र और देश में इस बैठक की ही चर्चा है। बैठक को कवरेज देने के लिए विदेश से भी पत्रकार आए हुए हैं।
‘लोगो’ का होगा अनावरण
‘इंडिया’ गठबंधन के ‘लोगो’ का अनावरण आज (१ सितंबर) सुबह १०.३० बजे किया जाएगा। बताया गया है कि हिंदुस्थान का प्रतिबिंब इस लोगो में होगा। जनता को अपना लगे इस तरीके से लोगो को डिजाइन किया गया है। यह भी कहा जा रहा है कि इसमें तिरंगा के साथ ही सर्वधर्म संभावना की तस्वीर भी झलकेगी।
संयुक्त पत्रकार परिषद
दोपहर २ बजे मेहमानों के लिए स्नेह भोजन का आयोजन किया गया है। इसके बाद ३.३० बजे इंडिया गठबंधन के नेता संयुक्त पत्रकार परिषद को संबोधित करनेवाले हैं। बैठक में हुए पैâसले और तय कार्यक्रमों की जानकारी इस दौरान मीडिया को दी जाएगी।
यह फैसला अपेक्षित…!
इस बैठक में गठबंधन के निमंत्रक पद पर कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के नाम पर मुहर लगने की संभावना है। इसके साथ ही गठबंधन में शामिल दलों के बीच समन्वय के लिए ११ सदस्यों की एक समन्वय समिति नियुक्त की जाएगी।
•  गठबंधन के न्यूनतम साझा कार्यक्रम और उसके स्वरूप पर बैठक में चर्चा होगी। कम से कम एक समान कार्यक्रम निर्धारित करने के लिए एक समिति नियुक्त की जाएगी। इस समिति की अध्यक्षता राकांपा अध्यक्ष शरद पवार द्वारा किए जाने की संभावना है।
गठबंधन के सामने सबसे बड़ी चुनौती सीट आवंटन की है। इसके लिए एक फॉर्मूला तय करने पर प्रारंभिक चर्चा कल की बैठक में होगी। साल २०१९ के चुनाव में जीती गई सीटें उन्हीं पार्टियों के पास रहेंगी। भाजपा की जीती गई सीटों पर पिछले चुनाव में दूसरे स्थान पर कौन था और इस दौरान कौन चुनकर आ सकता है, किसके पास यह क्षमता है इस आधार पर सीट बंटवारे पर पैâसला होगा। विवादित सीटों पर पैâसला लेने के लिए एक समिति का गठन किया जाएगा।
गठबंधन के सभी घटक दल अपने-अपने चुनाव चिह्न पर चुनाव लड़ेंगे, इसलिए गठबंधन को एकजुट दिखाने के लिए एक लोगो बनाया जाएगा। इसका अनावरण भी आज हो सकता है।
गठबंधन में शामिल हुर्इं पार्टियों में कई मुद्दों पर मतभेद है। इसलिए इस पर चर्चा न हो इसके लिए गठबंधन को एकजुट दिखाने के लिए गठबंधन के प्रवक्ताओं को नियुक्त किया जाएगा। इसकी भी कल घोषणा होने की संभावना है।
प्रधानमंत्री पद के चेहरे पर प्राथमिक चर्चा!
गठबंधन में प्रधानमंत्री पद के कई दावेदार हैं। इसलिए चुनाव से पहले किसी के नाम की घोषणा न करके सामूहिक नेतृत्व में चुनाव लड़ने की ज्यादातर पार्टियों की भूमिका है। हालांकि, गठबंधन भाजपा को मजबूत और स्थिर विकल्प दे सकता है। इसे लेकर लोगों में विश्वास पैदा करना है तो नेता की घोषणा करना आवश्यक होने की कुछ राजनीतिक दलों की राय है। ‘भारत जोड़ो’ यात्रा के बाद राहुल गांधी ही मोदी विरोधी मोर्चे का मुख्य चेहरा बन गए हैं। गठबंधन में प्रधानमंत्री पद का चेहरा कौन है, इस सवाल पर सभी नेता स्पष्ट जवाब देने से बचते रहे। ऐसे में कल की बैठक में इस पर चर्चा होगी या नहीं, इस पर संशय है।
उद्धव ठाकरे की परंपरागत मराठी मेजवानी!
गठबंधन की बैठक के लिए मुंबई आए नेताओं के लिए गुरुवार रात स्नेहभोज का आयोजन किया गया, जिसके मेजबान उद्धव ठाकरे हैं। इन मेहमानों को खास महाराष्ट्रीयन परंपरागत व्यंजनों का स्वाद चखाया जाएगा। मेनू में शाकाहारी और मांसाहारी व्यंजनों के साथ-साथ वड़ा पाव, भाखरवड़ी, नारली वड़ी, मोदक, भरवा बैंगन और झुणका भाकर से लेकर पूरणपोली तक कई पारंपरिक और मराठी व्यंजन शामिल हैं।
प्रचंड उत्साह और उत्सुकता
‘इंडिया’ गठबंधन की बैठक में देशभर से आए दिग्गज नेताओं के चेहरे पर जबरदस्त उत्साह देखा जा सकता है। कल दिनभर मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने का दृढ़ संकल्प और दृढ़ विश्वास सभी नेताओं के हावभाव से स्पष्ट दिखाई दे रहा था। मीडिया से बात करते हुए सभी नेताओं ने ‘इंडिया’ गठबंधन के उद्देश्य के साथ ही आगामी लोकसभा चुनाव की पृष्ठभूमि में विभिन्न दलों की एकजुटता और जनता के मजबूत समर्थन के बारे में बात की।
महंगाई से त्रस्त जनता के लिए आशा की किरण
सभी दिग्गज नेताओं ने विश्वास जताया कि महंगाई और बेरोजगारी से तंग आ चुकी जनता को ‘इंडिया’ गठबंधन के रूप में आशा की किरण नजर आ रही है और पूरा देश ‘इंडिया’ गठबंधन के साथ है। ‘इंडिया’ गठबंधन को सोशल मीडिया पर भी जोरदार समर्थन मिलने की तस्वीर सामने आ रही है। यह लोकतंत्र को मजबूत करने की शुरुआत है। हर चरण में ‘इंडिया’ गठबंधन मजबूत होगा और पूरी ताकत से तानाशाही से लड़ेगा। इसके साथ ही इस पर दिन भर सोशल मीडिया पर प्रतिक्रियाएं आती रहीं।

अन्य समाचार