मुख्यपृष्ठसमाचारनींबू हुआ बेशकीमती, बागों की रखवाली कर रहे लठैत

नींबू हुआ बेशकीमती, बागों की रखवाली कर रहे लठैत

• कानपुर में बाग से लूट लिये गए १५००० नींबू
•महंगा इतना कि बिक रहा दस रुपये में एक, ढाई सौ रुपये प्रति किलो
विक्रम सिंह/सुल्तानपुर। यूपी में महंगाई की मार से बेचारे नींबू की शामत आ गई है। दस रुपए का एक और ढाई सौ रुपये का किलो भर बिक रहा है। सेब, आम, तरबूज, खरबूजा, कीवी, अंगूर जैसे फलों ने भी इसकी कीमत के आगे घुटने टेक दिए हैं। अपराधियों की नजर नींबू के बागों पर खराब हो रही है। पहली बार नींबू के लुटेरे पैदा हो गए हैं। बदतर हाल है कानपुर का। यहां बिठूर के बाग से लुटेरे १५००० नींबू लूट ले गए। अब रात-रात भर लठैत नींबू के बागों में पहरा दे रहे हैं। मामला पुलिस की चौखट तक जा पहुंचा है।बागवानों ने नींबू लूट की वारदात दर्ज करने के लिये थाने में तहरीर दी है। चौबेपुर, बिठूर कटरी, मंधना, परियर में करीब २००० बीघे में नींबू के बगीचे हैं। हर जगह नींबू के बगीचों में रखवाली हो रही है। दरअसल नींबू की कीमत दस रुपये का एक या २५० रुपये किलो होते ही लूट शुरू हो गई। बिठूर कटरी में नींबू उगाने वाले राम नरेश, चिरंजू, चौभी निषाद, जगरूप, जारी पोखर बगीचा केयर टेकर राजेंद्र पाल ने बताया अब नींबू के बगीचे में दिन रात रखवाली करनी पड़ रही है। यह पहली बार है कि नींबू लूटा जा रहा है। बगीचा मालिकों ने नींबू की रखवाली के लिए कर्मचारी रखे हैं। कई बगीचा मालिकों ने रात में वहीं डेरा डाल लिया है। ‌शिवदीन पुरवा के अभिषेक निषाद ने बिठूर थाने में नींबू लूट की एफआईआर के लिए तहरीर दी है। इसके मुताबिक उनके तीन बीघा बगीचे में तीन दिन के अंदर चोर दो हजार नींबू तोड़कर ले गए। परेशान अभिषेक निषाद ने नींबू तैयार होने तक बाग में ही अपना बसेरा बना लिया है। यही नजारा लगभग सभी नींबू बगीचों का है। केयरटेकर एक-एक नींबू की गिनती कर रिकॉर्ड मेनटेन कर रहे हैं।

अन्य समाचार