मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनासंपादक के नाम पत्र : सड़कों पर चलना हुआ मुश्किल!

संपादक के नाम पत्र : सड़कों पर चलना हुआ मुश्किल!

सड़कों पर चलना हुआ मुश्किल!
मैं ‘दोपहर का सामना’ के माध्यम से अंबरनाथ-बदलापुर नगर पालिका का ध्यान बदलापुर रेलवे स्टेशन के पूर्व की तरफ बनी सड़क की तरफ दिलाना चाहता हूं। इस सड़क पर कभी भी सफाई नहीं होती है। इतना ही नहीं सड़क के दोनों तरफ ऑटो रिक्शा भी इधर-उधर खड़ा कर रिक्शा चालक कहीं भी चले जाते हैं। जिसके चलते आने-जाने वाले यात्री कभी-कभी तो गिर भी जाते हैं। अंबरनाथ-बदलापुर नगर पालिका इन रिक्शा चालकों पर कार्रवाई करने की बजाय हाथ खड़ा कर देती है। अंबरनाथ-बदलापुर नगर पालिका के कर्मचारियों का कहना है कि इस सरकार से बजट आने के बाद सड़क का काम होगा। हम सड़क की मरम्मत व सफाई कैसे करे? अंबरनाथ-बदलापुर नगर पालिका से हमारा निवेदन है कि इस सड़क की मरम्मत की जाए जिससे आने-जाने वालों यात्रियों को परेशानी से छुटकारा मिल सके।
-होली शर्मा, बदलापुर

ऑटो रिक्शा चालक वसूल रहे मनमाना किराया
मैं ‘दोपहर का सामना’ के माध्यम से प्रशासन का ध्यान ठाणे रेलवे स्टेशन की तरफ दिलाना चाहता हूं। इन दिनों नगर में ऑटो रिक्शा की इतनी अधिक संख्या हो गई है कि प्राय: इनकी वजह से जाम लग जाता है। लेकिन ठाणे मनपा प्रशासन की ओर से चलने वाले इन ऑटो रिक्शा के किराए का निर्धारण न होने से नागरिकों को परेशानी होती है। शहर में ऑटो चालकों द्वारा मनमाना किराया वसूला जा रहा है। हाल यह है कि बिना किसी रोकटोक के संचालन के कारण ऑटो वाले मनमानी किराया वसूलते हैं। इस वजह से आए दिन यात्रियों से विवाद होता रहता है। लेकिन धौंस के बल पर लोगों को ऑटो चालक चुप करा देते हैं। शहर में मुख्य रूप से ऑटो रिक्शा का संचालन होता है। इसमें स्टेशन से अस्पताल, कचहरी, खोपट आदि जगहों के लिए ऑटो रिक्शा चलते हैं। रात के समय या महिला यात्री होने पर आमतौर पर मनमाना किराया लिया जाता है। इतना ही नहीं कम दूरी के लिए भी कोई किराया तय नहीं है। जो मांग लिया वह देना ही है।
-प्रेम कुमार, ठाणे

अन्य समाचार