मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनासंपादक के नाम पत्र : बारिश में सड़क पर चलना हुआ दूभर!

संपादक के नाम पत्र : बारिश में सड़क पर चलना हुआ दूभर!

  • बारिश में सड़क पर चलना हुआ दूभर!
    मैं ‘दोपहर का सामना’ के माध्यम से प्रशासन का ध्यान ठाणे के उपनगर कलवा, पूर्व के शिवाजीनगर की सड़क की तरफ दिलाना चाहता हूं। बारिश होने पर जल जमाव के चलते सड़क समझकर चलने वालों के लिए जान लेवा हो सकती है। कारण गड्ढे में सड़क है या फिर सड़क में गड्ढे यह पता भी नहीं चल पाता है। शिवाजी नगर की सड़कों की हालत ऐसी है कि सड़कों पर कभी सीवरेज का पानी तो कभी बारिश का पानी जमा रहता है। ऐसे में गड्ढों वाली सड़कों की हालत ऐसी बन चुकी है कि सावधानी हटी तो दुर्घटना घटी। सड़क की मरम्मत का काम बारिश के पहले होना था लेकिन बारिश शुरू होने के बाद बी संबंधित विभाग का ध्यान इस टूटी सड़क की तरफ नहीं जा रहा है। लाखों खर्च कर बनाई सड़कों की दशा और दुर्दशा को देखनेवाला कोई नहीं है। दिन के समय में तो फिर भी गनीमत है, पर रात में चलना दूभर हो जाता है। बारिश में सड़कों पर गड्ढे की भरनी नहीं की गई तो यह और बड़े हो जाएंगे।
    -राम अवधेश, ठाणे
  • बिजली कटौती से परेशानी!
    अघोषित बिजली कटौती के कारण टिटवाला (पश्चिम) मांडा में रहिवासियों की परेशानी बढ़ गई हैं, जिसके चलते लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। संचार के नए युग में जहां हर काम मिनटों में होता है, वहीं बिजली कटौती के कारण लोगों का ज्यादातर काम मुश्किल से हो रहा है। बारिश के चलते लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है। बिजली कटौती की बात को अभियंता भी स्वीकार कर रहे हैं। बिजली कटौती में सुधार होने की उम्मीद नहीं लग रही है। रहिवासियों की तरफ से कई बार बिजली कार्यालय पर बिजली कटौती को लेकर प्रदर्शन भी किया गया लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। जबकि बिजली बिल हर महीने ब़ढ़ाकर भेज दिया जाता है।
    -अमित त्रिपाठी, टिटवाला

अन्य समाचार