मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनासंपादक के नाम पत्र : कचरे की गंदगी से बढ़ा बीमारियों का...

संपादक के नाम पत्र : कचरे की गंदगी से बढ़ा बीमारियों का प्रकोप

  • कचरे की गंदगी से बढ़ा बीमारियों का प्रकोप
    मैं ‘दोपहर का सामना’ के माध्यम से कल्याण-डोंबिवली महानगरपालिका के अधिकारियों का ध्यान कल्याण बस स्टाप के बगल स्थित रोड की तरफ दिलाना चाहता हूं। कई दिनों तक वहां सड़क के किनारे कचरे का अंबार लगा रहता है लेकिन सफाईकर्मी महीने में एक बार केवल कचरा उठाने आते है, जबकि पूरे महीने कचरे जमा रहता है। कचरा जमा रहने से बीमारी पैâलने का डर सताने लगा है। मानसून में नाले व नालियों की सफाई का काम भी पूरा नहीं हो सका। आलम यह है कि शहर के नाले व नालियां वूâड़े-कचरे से पटे पड़े हैं। गदंगी से नाले-नालियों के ऊपर से गंदा पानी बहता रहता है। सब कुछ जानते हुए भी महानगरपालिका के अधिकारी इसकी सुध नहीं लेते हैं। शहर में जलभराव की समस्या से निपटने के लिए अभियान चलाकर नाले व नालियों की सफाई की जाती है। मगर इस बार शहर के नालों एवं नालियों की सफाई को लेकर महानगरपालिका के अफसर तनिक भी सचेत नहीं हैं। -रामसिंह, कल्याण
  • मनमानी किराया वसूल रहे रिक्शा चालक
    कलवा रेलवे स्टेशन से भास्कर नगर जाने के लिए ऑटो रिक्शा चालकों द्वारा मनमानी किराया वसूला जा रहा है। कई बार तो रिक्शा चालकों और लोगों में कहासुनी भी हो जाती है। जबकि लगभग १०० से ज्यादा ऑटो रिक्शा फर्राटा भरते हैं। प्रति यात्री १० रुपए किराया लेना शुरू किया था, लेकिन अब ऑटो रिक्शा चालकों ने मनमानी करते हुए अपनी मर्जी से किराया वसूलना शुरू कर दिया है। भास्कर नगर चौक पर ऑटो रिक्शा चालकों द्वारा मनमानी ढंग से सड़क के दोनों तरफ वाहन खड़ा करने से भी लोगों को आने-जाने में परेशानी होती है। किराया वसूलने का यह नियम ऑटो रिक्शा चालकों ने ही बनाया है। यदि ज्यादा किराया वसूलने का विरोध कोई करता है तो रिक्शा चालक ल़ड़ाई पर उतारू हो जाते है।
    -सुरेंद्र कुमार, भास्कर नगर

अन्य समाचार