मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनासंपादक के नाम पत्र : टैक्सी स्टैंड पर प्राइवेट कार चालकों का...

संपादक के नाम पत्र : टैक्सी स्टैंड पर प्राइवेट कार चालकों का कब्जा

दक्षिण मुंबई का मुंबा देवी इलाका एक भीड़-भाड़ वाला व्यस्ततम क्षेत्र है। यहां पर मुंबई की कुल देवी मुंबा देवी का मंदिर है, जहां प्रतिदिन हजारों भक्त मां के दर्शनों के लिए आते हैं। मुंबा देवी के भक्त मुंबई समेत मुंबई उपनगरों तथा थाना, कल्याण, अंबरनाथ, टिटवाला आदि क्षेत्रों से बड़ी संख्या में प्रतिदिन आते हैं। मुंबा देवी मंदिर पहुंचने के लिए कुछ भक्त मस्जिद बंदर तो कुछ मुंबई सीएसटी और कुछ भायखला में ट्रेन से उतरते हैं। ट्रेन से उतरने के बाद भक्तों को टैक्सी की सेवा लेनी पड़ती है और टैक्सी मुंबा देवी मंदिर के पास तक आती है। मुंबा देवी मंदिर के पास गाड़ी पार्क करने के लिए जगह नहीं है इसलिए यहां एक बहुत छोटा-सा टैक्सी स्टैंड है, जहां सिर्फ पांच टैक्सियां ही पार्क की जा सकती हैं। यूसुफ मेहर अली रोड पर स्थित यह टैक्सी पार्किंग अंग्रेजों के जमाने से चली आ रही है। लेकिन इस टैक्सी पार्किंग की जगह पर प्राइवेट गाड़ियां पार्क की जाती हैं। कुछ लोगों का कहना है कि यह पार्किंग पैसे लेकर कराई जाती है। इस पार्किंग के पास ट्रैफिक पुलिस के जवान खड़े रहते हैं। अगर कोई टैक्सी चालक नो पार्किंग में टैक्सी खड़ी कर देता है तो हवलदार उसे तुरंत फाइन मार देता है, जबकि इन प्राइवेट वाहनों पर हवलदार कोई भी कार्रवाई नहीं करता। यहां तक कि हवलदार को अगर बताया जाए कि टैक्सी पार्विंâग में प्राइवेट गाड़ी खड़ी है तब भी हवलदार उस पर ध्यान नहीं देता। मेरा प्रशासन से अनुरोध है कि टैक्सी चालकों के साथ चल रहे पुलिस के इस दोहरे मापदंड को तत्काल बंद करवाया जाए।
– योगेश पांडे, मुंबा देवी, मुंबई

अन्य समाचार