मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनासंपादक के नाम पत्र :  सैंडहर्स्ट रोड रेलवे स्टेशन पर टैक्सी चालकों...

संपादक के नाम पत्र :  सैंडहर्स्ट रोड रेलवे स्टेशन पर टैक्सी चालकों की मनमानी

मध्य रेलवे के सैंडहर्स्ट रोड रेलवे स्टेशन पर टैक्सी चालकों की मनमानी से आम रेल यात्री बहुत परेशान हैं। बता दें कि सैंडहर्स्ट रोड रेलवे स्टेशन मध्य और हार्बर लाइन का संगम स्थल है। इस स्टेशन पर प्रतिदिन हजारों की संख्या में यात्री उतरते हैं। सैंडहर्स्ट रोड रेलवे स्टेशन के सामने बसों की ज्यादा सेवाएं उपलब्ध नहीं हैं, इसलिए मात्र टैक्सी ही विकल्प के रूप में सहारा बनती है। टैक्सी ड्राइवर यात्रियों की इस मजबूरी का भरपूर लाभ उठाते हैं। सैंडहर्स्ट रोड से जेजे अस्पताल, पायधुनी या मोहम्मद अली रोड जाने के लिए टैक्सी चालक पहले तो इनकार करते हैं। अगर कोई जाने को तैयार भी होता है तो वह मीटर की बजाय फिक्स भाड़ा मांगता है। यह फिक्स भाड़ा दो से तीन गुना ज्यादा होता है। बता दें कि सैंडहर्स्ट रोड से लेकर मोहम्मद अली रोड तथा मस्जिद बंदर इत्यादि क्षेत्र अधिकतर व्यावसायिक क्षेत्र हैं, जहां बड़ी संख्या में व्यापारियों और उसमें काम करनेवालों का आना-जाना लगा रहता है। टैक्सी चालकों को मनमाना भाड़ा देने के लिए यात्री मजबूर होते हैं, क्योंकि टैक्सी के अलावा कोई और विकल्प नहीं मिलता। आश्चर्य की बात यह है कि सैंडहर्स्ट रोड रेलवे स्टेशन पर ट्रैफिक पुलिस के जवान भी तैनात रहते हैं। अगर यात्री टैक्सी चालकों की मनमानी के खिलाफ कोई शिकायत करता है तो इस पर ध्यान देने की बजाय वो यात्रियों को दूसरी टैक्सी पकड़कर जाने के लिए कहते हैं। लोगों का दावा है कि इस स्टेशन पर संगठित टैक्सी चालकों का गिरोह चलता है। इसलिए अगर कोई टैक्सी चालक मीटर के भाड़े से जाने के लिए तैयार भी होता है तो गिरोह के सदस्य उसे ऐसा नहीं करने देते। मजबूरन वह ईमानदार टैक्सी चालक भी उनकी बातें मानकर मनमाना भाड़ा वसूलने के लिए तैयार हो जाता है। ट्रैफिक पुलिस विभाग से निवेदन है कि सैंडहर्स्ट रोड रेलवे स्टेशन पर टैक्सी चालकों की मनमानी पर लगाम लगाकर यात्रियों को सुविधा प्रदान करें।
– मोहम्मद शाहनवाज हुसैन, डोंगरी, मुंबई

अन्य समाचार