मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनासंपादक के नाम पत्र : अवैध पार्किंग से ट्रैफिक जाम

संपादक के नाम पत्र : अवैध पार्किंग से ट्रैफिक जाम

मैं ‘दोपहर का सामना’ अखबार के माध्यम से ट्रैफिक पुलिस प्रशासन से निवेदन करता हूं कि वर्सोवा से घाटकोपर जानेवाली मेट्रो रेल स्टेशन से प्रतिदिन लाखों यात्री यात्रा करते हैं। इसके अलावा घाटकोपर से अंधेरी जाने के लिए तमाम बसें इसी रूट से जाती हैं। असल्फा के आगे जागृति नगर मेट्रो रेलवे स्टेशन है। जागृति नगर मेट्रो रेल स्टेशन के आसपास लोगों की बस्ती नहीं है, जिसकी वजह से सड़क खाली रहती है। इसी खाली जगह पर सड़क के दोनों किनारे अवैध रूप से गाड़ियों की पार्किंग की जाती है। पार्किंग का आलम यह है कि बड़े-बड़े कंटेनर और बड़ी-बड़ी लग्जरी बसें भी सड़क पर दोनों तरफ पार्क की जाती हैं। इस पार्किंग की वजह से सड़क पर दोनों तरफ से भयंकर ट्रैफिक जाम हो जाता है। जागृति नगर मेट्रो रेलवे स्टेशन के आसपास की गई अवैध पार्किंग से घाटकोपर रेलवे स्टेशन से लेकर असल्फा मेट्रो स्टेशन तक भयानक ट्रैफिक जाम लग जाता है, जिसकी वजह से घाटकोपर से असल्फा आने में १० मिनट लगनेवाला समय बढ़कर एक से सवा घंटे का हो जाता है। आश्चर्य की बात यह है की जागृति नगर मेट्रो स्टेशन के आगे ट्रैफिक पुलिसकर्मी छुपकर खड़े रहते हैं जो ऑटो रिक्शा चालक और दो पहिया वाहनों से सिर्फ वसूली करते रहते हैं। लेकिन ट्रैफिक जाम को क्लियर करने के लिए कोई भी प्रयास नहीं करते हैं। बता दें कि घाटकोपर रेलवे स्टेशन के पास राम निरंजन झुनझुनवाला कॉलेज व हिंदी हाई स्कूल में प्रतिदिन हजारों बच्चे पढ़ने के लिए आते हैं। लेकिन ट्रैफिक जाम होने की वजह से बच्चे स्कूल और कॉलेज पहुंचने में लेट हो जाते हैं। इसके अलावा ऑटो रिक्शा से जानेवाले यात्रियों का किराया बढ़ा कर डबल से तीन गुना तक पहुंच जाता है। ट्रैफिक पुलिस विभाग से निवेदन है कि ट्रैफिक जाम की इस समस्या को सुलझाने के लिए अवैध रूप से पार्क किए गए वाहनों को तत्काल हटवाने की कृपा करें।
– देवेंद्र पाटील, जागृति नगर, घाटकोपर

अन्य समाचार