मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनासंपादक के नाम पत्र: कब बदलेंगी गली की टूटी हुई लादियां

संपादक के नाम पत्र: कब बदलेंगी गली की टूटी हुई लादियां

कुर्ला वार्ड १५१ के श्रमजीवी नगर की गलियों की हालत खराब हो गई है लेकिन कई बार शिकायतों के बावजूद इसकी मरम्मत नहीं हो रही है। यहां पर दक्षिण भारतीय लोगों का एक प्रमुख मंदिर ‘मुत्थूमरियम टेंपल’ है, जहां पर जाने के लिए रोजाना हजारों लोग इसी गली का उपयोग करते हैं। गली की लादियां टूटी होने के कारण अक्सर बच्चे, बुजुर्ग और महिलाएं यहां गिर जाते हैं। कई बार गिरने के बाद उन्हें गंभीर चोटें भी आई हैं। इस बाबत शिकायत करने के बावजूद प्रशासन के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही है। दस साल पहले यहां के कांग्रेसी नगरसेवक गौतम साबले ने यहां नई लादियां लगवा दी थीं, तब से यही लादियां लगी हुई हैं, जबकि वर्तमान भाजपा पार्टी के नगरसेवक राजेश फुलवारीया से कई बार शिकायत करने के बावजूद वे इसे देखने भी नहीं आए। मेरी प्रशासन से विनती है कि हम जनता को पॉलिटिक्स से कोई लेना-देना नहीं है, कृपया हमारी समस्या का निदान कीजिए।
– आशीष आनंद, कुर्ला

अन्य समाचार