मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनासंपादक के नाम पत्र: गार्डन की टूटी दीवार कब बनेगी?

संपादक के नाम पत्र: गार्डन की टूटी दीवार कब बनेगी?

सरकार कहती है, ‘वृक्ष बचाओ-पर्यावरण बचाओ’। साथ ही ब्यूटीफिकेशन के नाम पर करोड़ों रुपए खर्च करती है, लेकिन जो चीज बन चुकी है, उसे सही से नहीं रख पा रही है। इसी का एक नमूना चेंबूर के पोस्टल कॉलोनी स्थित गार्डन में देखने को मिला। इस एकमात्र गार्डन के बाउंड्री वॉल का हिस्सा गिर गया है, जिसकी मरम्मत करने की सुध किसी को नहीं है। पोस्टल कॉलोनी में दो रास्ते हैं, इन रास्तों के बीच में पोस्टल कॉलोनी को-ऑपरेटिव हाउसिंग सोसायटी का यह गार्डन मौजूद है। इस क्षेत्र में एकमात्र यह गार्डन होने की वजह से यहां पर बच्चे, बुजुर्ग, महिलाएं सभी मॉर्निंग वॉक को आते हैं और शाम के समय खेलने के लिए बच्चे और सुस्ताने के लिए बड़े आते हैं।
लेकिन इसकी एक तरफ की दीवार का हिस्सा गिरा हुआ है, जिससे बाकी के हिस्से कभी भी ढह सकते हैं। इसकी मरम्मत की सुध स्थानीय एम वॉर्ड मनपा को नहीं है। मेरी गुजारिश है कि जल्द से जल्द इसे बनाया जाए, ताकि भविष्य में कोई हादसा न हो सके। पोस्टल कॉलोनी एक सुनसान इलाका माना जाता है। ऐसे में कोई भी असामाजिक तत्व इस गार्डन में आकर बैठ सकता है। दीवार होने की वजह से यहां सुरक्षा बनी रहती है, लेकिन यही दीवार ढह जाने की वजह से स्थानीय लोग असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। हमने एम वॉर्ड के अधिकारियों को मौखिक रूप से इसकी सूचना दे दी है। उन्होंने आश्वासन दिया है कि जल्दी काम करेंगे, लेकिन अभी तक काम नहीं हो पाया है। मेरी गुजारिश है मनपा प्रशासन से कि इस पर ध्यान दें। अन्यथा दीवार का कोई बड़ा हिस्सा ढह बढ़ सकता है। चोटिल हो सकता है।
– गिरीश अग्रवाल, चेंबूर

अन्य समाचार